बम धमाके से दहला तुर्की...हमलावरों के निशाने पर सेना का काफिला

तुर्की की राजधानी अंकारा में एक दिल दहला देने वाला हमला हुआ..यहां सेना को निशाना बनाकर कार बम विस्फोट किया गया...इस शक्तिशाली बम विस्फोट में 28 लोग...

बम धमाके से दहला तुर्की...हमलावरों के निशाने पर सेना का काफिला

slide_478578_6542212_free

तुर्की की राजधानी अंकारा में एक दिल दहला देने वाला हमला हुआ..यहां सेना को निशाना बनाकर कार बम विस्फोट किया गया...इस शक्तिशाली बम विस्फोट में 28 लोग मारे गए...जबकि 61 के लगभग लोग ज़ख़्मी हैं।

उपप्रधानमंत्री नोमान कुर्तुलमस ने हमले की निंदा की...और बताया कि सैन्य काफिले को निशाना बनाकर इस हमले को अंजाम दिया गया....लेकिन अभी तक हमले की किसी ने ज़िम्मेदारी नहीं ली है...वहीं कुर्तुलमस ने ये भी कहा कि इस तरह का कृत्य पूरे तुर्की पर एक हमला है...जिसे कपटपूर्ण तरीके और विश्वासघात कर अंजाम दिया गया।

बताया जा रहा है कि ये हमला उस वक्त हुआ जब मध्य अंकारा में सैन्य बसों का काफिला एक रेड लाइट पर आकर रुका...उसी समय एक कार में ब्लास्ट हुआ और आसपास अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया....ये जगह सेना और संसद मुख्यालय के क़रीब है।

वहीं एक चश्मदीद गुर्कन...जो घटनास्थल से क़रीब 500 मीटर की दूरी पर खड़ा था....गुर्कन के मुताबिक़ एक आग का गोला धीरे-धीरे बड़ा हो रहा था....और जैसे ही लोगों ने विस्फोट की आवाज़ सुनी....लोग इधर-उधर भागने लगे।

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एरडोगन ने हमले को लेकर कहा कि देश हाल ही में कई घातक हमलों को देख चुका हैं....और इन हमलों के लिए कुर्द विद्रोही औऱ जिहादी पूरी तरीके से ज़िम्मेदार हैं।

एरडोगन ने हमलावरों को चेतावनी दी कि उन पर हमले को लेकर जवाबी कार्रवाई ज़रुर होगी...तुर्की किसी रडोगन ने ये कहा कि हमलावरों पर जवाबी कार्रवाई ज़रुर होगी...इस विस्फोट के लिए ज़िम्मेदार लोगों के ऊपर और अत्म रक्षा के लिए तुर्की किसी समय....किसी भी जगह कार्रवाई करने से झिझकेगा नहीं।

सेना की तरफ से भी बयान आया है कि ये हमला अन्तर्राष्ट्रीय समय के मुताबिक़ रात 10 बजे हुआ...हमलावरों की तरफ से सैन्यकर्मियों को ले जा रही गाड़ियों को निशाना बनाया गया।

अंकारा में अंजाम दिए गए शक्तिशाली बम विस्फोट को तुर्की के प्रधानमंत्री अहमत दावुतोग्लू ने कायरतापूर्ण क़दम बताया...और अपनी ब्रसेल्स यात्रा को रद्द कर दिया...दावुतोग्लू वहां यूरोपीय प्रवाली संकट पर होने वाले सम्मेलन में भाग लेने जा रहे थे।