उग्र हुआ जाट आंदोलन, दिल्ली तक पहुंचा, रेल सेवाएं बाधित

जाट आंदोलन काफी तेजी से बढ़ रहा है। इसका असर अब दिल्ली तक पहुंच गया है। जाटों सहित पांच जातियों काे आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग में शामिल करने, कोटा...

उग्र हुआ जाट आंदोलन, दिल्ली तक पहुंचा, रेल सेवाएं बाधित

jatजाट आंदोलन काफी तेजी से बढ़ रहा है। इसका असर अब दिल्ली तक पहुंच गया है। जाटों सहित पांच जातियों काे आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग में शामिल करने, कोटा बढ़ाकर 20% करने और आय सीमा 6 लाख करने के आश्वासन के बावजूद जाट आंदोलन शुक्रवार को और गंभीर हो गया। कई जिलों में आगजनी और तोड़फोड़ घटना हुई। उधर रोहतक में बीएसएफ और प्रदर्शनकारियों के बीच फायरिंग में अब तक तीन लोगों की मौत हो गई। इस आंदोलन में अब तक करीब पांच पुलिसकर्मियों सहित 63 से ज्यादा लोग घायल हैं। वहीं, भिवानी में चौटाला परिवार के पेट्रोल पंप और जाट धर्मशाला में आग लगा दी गई। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए कुछ जिलों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्रशासन ने हिंसा भड़काने वाले को देखते ही गोली मारने के आदेश दिया हैं। देर शाम जींद, हिसार और पानीपत समेत कुछ जिलों में सेना ने मोर्चा संभाल लिया। उधर आंदोलन-प्रभावित जिलों में इंटरनेट सेवा, स्कूल और कॉलेज अगले आदेश तक बंद कर दिए गए हैं। आंदोलन के चलते 20 फरवरी को होने वाली एचटेट की परीक्षा भी रद्द कर दी गई है। राज्य में धारा-144 लागू कर दी गई है। प्रदेश में विभिन्न जगहों पर कई आगजनी की घटनाएं हुई। राज्य के कई मंत्रियों, विधायकों और सांसदों के आवास पर पथराव किया गया और उनके प्रतिष्ठानों को आग के हवाले कर दिया गया। इसे देखते हुए सांसदों, विधायकों और मंत्रियों के घरों और दफ्तरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उधर, सोनीपत में दिल्ली-चंडीगढ़ ट्रैक पर प्रदर्शनकारियों ने रेल पटरी उखाड़ दी।



हरियाणा में जारी जाट आरक्षण आंदोलन में रेलवे परिसंपत्तियों पर हमले एवं ट्रैक जाम किए जाने की वजह से अब तक 716 ट्रेेनें प्रभावित हुईं हैं। रेलवे ने पानीपत, रोहतक एवं रेवाड़ी से गुजरने वाले मार्ग पर रेल परिचालन स्थगित कर दिया है।


जाटआंदोलन उग्र होने का सीधा असर दिल्ली और पंजाब समेत आस पास के विभिन्न राज्यों पर पड़ा है। शुक्रवार को दिल्ली-अमृतसर की कई ट्रेनें अचानक कैंसिल होने से स्टेशनों पर अफरा-तफरी रही। राजधानी समेत लंबी दूरी की कई ट्रेनें कैंसिल कर दी गईं। ट्रेन की आवजाही ठप होने से दूसरे राज्यों से आने और जाने वाला कारोबारियों का सामान स्टेशन पर पड़ा है। कारोबारियों का कहना है कि आंदोलन जल्द खत्म नहीं हुआ तो करोड़ों रुपए का नुकसान होगा। उधर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में इस बाबत जनहित याचिका दायर की गई है जिसमें कोर्ट ने सरकार से 23 फरवरी तक जवाब मांगा।

बीस फरवरी को होने वाली हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा राज्य में आंदोलन के चलते रद्द कर दी गई है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने सांख्यिकी सहायक वेटरनरी लाइवस्टॉक डेवलपमेंट असिस्टेंट के पदों की 21 फरवरी को होने वाली परीक्षा भी रद्द हो गई है। अब यह परीक्षा संभवतः बीस मार्च को होगी। राज्य के रोहतक जिले समेत विभिन्न जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने सौ से ज्यादा वाहन फूंके।

उधर हरियाणा में जाट आंदोलन को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से वहां के हालात का जायजा ले रहे हैं। वहीं देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री से प्रदेश के हालात पर बात की और जल्द से जल्द शांति बहाल करने को कहा है।