मुनक नहर आर्मी ने खुलवाया, दिल्ली का पानी संकट होगा खत्म

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा में जाट आंदोलन केंद्र से आरक्षण के लिए मिले आश्वासन के बाद अब धीरे-धीरे समाप्त हो रहा है। इस आंदोलन ने...

मुनक नहर आर्मी ने खुलवाया, दिल्ली का पानी संकट होगा खत्म


moonakपिछले कुछ दिनों से दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा में जाट आंदोलन केंद्र से आरक्षण के लिए मिले आश्वासन के बाद अब धीरे-धीरे समाप्त हो रहा है। इस आंदोलन ने हरिणया समेत अन्य पड़ोसी राज्यों को काफी प्रभावित किया है। इसका ज्यादा असर दिल्ली पर पड़ा है क्योंकि दिल्ली पानी समेत अन्य कई बुनियादी जरुरतों पर पड़ोसी राज्य पर निर्भर है।

आंदोलन के चलते दिल्ली में पानी को लेकर संकट पैदा हो गया है था लेकिन अब प्रदर्शनकारियों द्वारा आंदोलन वापस लेने से दिल्ली को राहत मिली है। जाट आंदोलन की वजह से दिल्ली को पानी सप्लाई करने वाली मुनक नहर को प्रदर्शनकारियों ने बंद कर दिया था। सोमवार सुबह आर्मी ने इस नहर को खुलवा दिया। जानकारी के मुताबिक, शाम तक दिल्ली में वॉटर सप्लाई पहले जैसी हो जाएगी। जानकारी के मुताबिक आर्मी और सीआरपीएफ की छह कंपनियां सोमवार सुबह चार बजे मुनक नहर पहुंचीं। इन टीमों ने करीब चार घंटे में नहर से सप्लाई बहाल कर दी।हिसार-कैथल से कर्फ्यू हटा लिया गया है, वहीं प्रदेश में कई अन्य जगह भी आंदोलनकारी घर लौटने लगे हैं। हालांकि नेशनल हाईवे नंबर दस अब तक पूरी तरह नहीं खोला जा सका है।



एक तरह से देखा जाए तो इस आंदोलन ने पूरे देश को प्रभावित किया है। राजधानी समेत सैंकड़ों ट्रेनें रद्द करनी पड़ी जबकि कई ट्रेनों के रास्ते बदलकर चलाए गए। इससे अन्य राज्य से आने जाने वाले यात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। वहीं हरियाणा समेत आसपास के राज्यों को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। उधर भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस को सोमवार के लिए कैंसल कर दिया गया है। वहीं सोमवार ही को दिल्ली और लाहौर बस सर्विस भी बंद रहेगी।

 जाट समुदाय को आरक्षण देने के लिए भाजपा ने घोषणा की है कि हरियाणा विधानसभा के अगले सेशन में जाट कम्युनिटी को रिजर्वेशन दिया जाएगा। आपको बता दें कि हरियाणा में भाजपा की सरकार है। उधर भाजपा की हरियाणा इकाइ के महासचिव अनिल जैन ने रविवार शाम को अपील की है कि जाट समाज अपना आंदोलन खत्म करे। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के घर पर हुई बैठक के बाद जैन ने यह एेलान किया। बैठक में जाट समाज और खाप के नेता भी शामिल हुए। भाजपा ने वेंकैया नायडू की अध्यक्षता में पांच सदस्यों वाली समिति बनाई है। यह समिति जाट समुदाय के आरक्षण पर सुझाव देगी।