बांग्लादेश में पुजारी की हत्या, तस्लीमा ने कहा वहां से सभी हिंदू भाग जाएंगे

बांग्लादेश में रविवार को एक हिंदू मंदिर के पुजारी की हत्या कर दी गई जिसकी जिम्मेदारी आईएसआईएस से जुड़े ग्रुप ने ली है। इस पर बांग्लादेश की विवादित...

बांग्लादेश में पुजारी की हत्या, तस्लीमा ने कहा वहां से सभी हिंदू भाग जाएंगे

taslimaबांग्लादेश में रविवार को एक हिंदू मंदिर के पुजारी की हत्या कर दी गई जिसकी जिम्मेदारी आईएसआईएस से जुड़े ग्रुप ने ली है। इस पर बांग्लादेश की विवादित लेखिका तसलीमा नसरीन ने ट्वीट कर कहा कि बांग्लादेश से हिंदू भाग जाएंगे। सिरफिरे कट्‌टरपंथी इस्लामी बांग्लादेश में हिंदू आबादी नहीं चाहते।

घटना रविवार सुबह की है। पंचगढ़ के करीब देवीगंज मंदिर में 46 साल के पुजारी जोगेश्वर रॉय पर दो हथियारबंद लोगों ने हमला कर दिया। पुजारी मंदिर की सुबह की आरती की तैयारी करने के लिए मंदिर में ही बने अपने कमरे से निकल रहा था। इसी दौरान हमलावरों की फायरिंग से दो श्रद्धालु भी घायल हो गए। इस्लामिक स्टेट से जुड़े एक आतंकी ग्रुप ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। बांग्लादेश में कुछ महीनों से हिंदू समुदाय को लगातार निशाना बनाया जा रहा है। पुलिस के अनुसार खून से सना हुआ धारदार हथियार बरामद कर लिया गया है। उधर सरकार ने बयान दिया है कि बांग्लादेश में आईएसआईएस के होने के कोई सबूत नहीं मिले हैं।


तस्लीमा नसरीन के बारे में

मशहूर लेखिका तस्लीमा नसरीन बंग्लादेश से निकाली जा चुकी हैं। कई सालों से भारत में रह रही हैं। शुरुआत में वे पश्चिम बंगाल में रहीं। अब दिल्ली में रहती हैं। उनकी किताब 'लज्जा' को लेकर काफी विवाद हुआ था। मुस्लिम कट्टरपंथियों ने इस किताब को इस्लाम विरोधी बताया था। इस विवाद के बाद चर्चा में आईं। उनके खिलाफ फतवे भी जारी हुए। इस कारण उन्हें बांग्लादेश छोड़ना पड़ा था। नसरीन के पास स्वीडन की भी नागरिकता है। वह खुद को नास्तिक बताती हैं।