बजट सत्र आज से शुरु, हंगामेदार होने की संभावना

संसद का बजट सत्र आज शुरू हो गया। इस सत्र के हंगामेदार रहने की पूरी संभावना है। विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार को जेएनयू विवाद और जाट आरक्षण आंदोलन...

बजट सत्र आज से शुरु, हंगामेदार होने की संभावना

parliamentसंसद का बजट सत्र आज शुरू हो गया। इस सत्र के हंगामेदार रहने की पूरी संभावना है। विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार को जेएनयू विवाद और जाट आरक्षण आंदोलन समेत कई मुद्दों पर घेरने की तैयारी कर ली है। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सरकार पर अभिव्यक्ति और मतभेदों की आजादी पर सुनियोजित हमला छेड़ने का आरोप लगाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट शुरू होने से पहले कहा कि आज संसद का बजट सत्र शुरू हो रहा है। देश के सवा सौ करोड़ देशवासियों की निगाहें संसद की कार्यवाही पर केंद्र‍ित हैं। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में भारत की जो स्थ‍िति बनी है, उससे पूरी दुनिया का ध्यान हमारे बजट सत्र पर है। उन्होंने कहा कि लोगों में ये विश्वास बना है कि संसद के समय का सदुपयोग होगा, सार्थक चर्चा होगी, देश के सामन्य नागरिकों की आशाओं पर गहन चिंतन होगा। बजट सत्र को लेकर जितनी भी बैठक हुई हैं, उनमें विपक्ष के साथियों ने सकारात्मक रुख दिखाया है।

उधर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और संसदीय कार्यमंत्री एम वेंकैया नायडू द्वारा सोमवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में सत्र की हंगामेदार शुरुआत होने के संकेत मिले जहां विपक्ष ने सरकार पर ‘अवरोध के लिए एजेंडा तय करने’ का आरोप लगाया। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सोनिया गांधी ने संसद के सुचारू रूप से चलने की जिम्मेदारी सरकार पर डाली। उन्होंने जेएनयू विवाद, दलित छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी और पठानकोट आतंकी हमले जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरने के लिए समान विचार वाले दलों को साथ लेने का इरादा साफ किया।
भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने जेएनयू विवाद और इशरत जहां पर संसद में चर्चा की मांग करते हुए लोकसभा में नोटिस दिया है। सांसद ने नोटिस में कहा है कि दोनों मुद्दों पर चर्चा की जानी चाहिए। ज्ञात हो कि हाल ही में शिकागो कोर्ट से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेशी के दौरान डेविड हेडली ने खुलासा किया था कि इशरत जहां लश्कर की आत्मघाती हमलावर थी जिसे जेडीयू समेत तमाम पार्टियों ने भारत की बेटी कहा था और उसके लिए इंसाफ की मांग की थी।