जेएनयूः वकीलों ने स्टिंग में कन्हैया को मारने की बात कबूली, कहा पुलिस ने भी साथ दिया

जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में कन्हैया को पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी के समय पत्रकारों और जेएनयू स्टूडेंट्स के साथ मारपीट मामले में तीन...

जेएनयूः वकीलों ने स्टिंग में कन्हैया को मारने की बात कबूली, कहा पुलिस ने भी साथ दिया

kanhaya beatजेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में कन्हैया को पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी के समय पत्रकारों और जेएनयू स्टूडेंट्स के साथ मारपीट मामले में तीन आरोपी वकीलों ने एक स्टींग ऑपरेशन में ये बात कबूल की है कि उन्होंने कन्हैया की तीन घंटे तक पिटाई की। बता दें कि वकीलों ने ये बात एक न्यूज चैनल द्वारा कराए गए स्टिंग ऑपरेशन में कबूल की है।
आरोपी वकील यशपाल सिंह और विक्रम सिंह चौहान ने ये बात कबूल की है कि उन्होंने पुलिस हिरासत में जेएनयू के छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की जबरदस्त पिटाईकी। वकीलों ने उसकी पिटाई पुलिस की मौजूदगी में की थी और आरोपी वकीलों ने उसे इतना मारा कि पिटाई के दौरान उसकी कपड़े गीले हो गए।
एक आरोपी वकील ने स्टिंग में ये बात कही कि हमने कन्हैया कुमार को तीन घंटे तक पीटा और जबरन उसे 'भारत माता की जय' कहलवाने की कोशिश किया। वकील ने कहा कि बाद में कन्हैया ने हमारे साथ भारत माता की जयकारे लगाए और तब हमने उसे जाने दिया। इसके साथ ही वकील ने कहा कि वो कन्हैया को फिर पीटेंगे।
वकील ने स्टिंग में यह भी कहा कि मैं एक पेट्रोल बम लाउंगा और मुझे इस बात की परवाह नहीं है कि मेरे खिलाफ क्या केस फाइल किया जाता है। मैं उसे नहीं छोड़ूंगा चाहे मुझपर हत्या का भी केस दर्ज कर दिया जाए।
वकील ने आगे कहा कि, मैं जेल जाना चाहता हूं और फिर मैं उसे उसी के बैरक में घुसकर मारूंगा। मैं अपने बेल के लिए बॉन्ड भी नहीं भरूंगा। मैं एक या दो दिन के लिए जेल जाउंगा। वकील ‌ने ये भी कबूला कि उसने सभी पत्रकारों और जेएनयू के प्रोफेसरों को भी मारा।
उसने बताया कि कन्हैया को मारने में पुलिस भी उनका पूरा सहयोग कर रही थी और पुलिस ने वकील से कहा था कि अगर वो वर्दी में नहीं होते तो वो भी उसे पीटते।