हथियार आयात करने में विश्व में भारत पहले स्थान पर, चीन ने दोगुना हथियार बेचा

हथियार आयात करने में तीन सालों से भारत लगातार पहले स्थान पर कायम है। भारत ने दूसरे देशों से सबसे ज्यादा चौदह हथियार खरीदे। यह चीन और पाकिस्तान की...

हथियार आयात करने में विश्व में भारत पहले स्थान पर, चीन ने दोगुना हथियार बेचा


weaponहथियार आयात करने में तीन सालों से भारत लगातार पहले स्थान पर कायम है। भारत ने दूसरे देशों से सबसे ज्यादा चौदह हथियार खरीदे। यह चीन और पाकिस्तान की तुलना में तीन गुना ज्यादा है। 2006-10 के बीच भारत ने विदेशों से साढ़े आठ प्रतिशत हथियार खरीदे थे। वहीं हथियार निर्यात में चीन विश्व में तीसरे नंबर का देश बन गया है।

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसआईपीआरआई) हर पांच साल में हथियार के आयात-निर्यात से संबंधित आंकड़े जारी करता है। इसके अनुसार 2006-10 और 2011-2015 के बीच भारत के हथियार आयात में नब्बे प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई। ज्ञात हो कि भारत सबसे ज्यादा हथियार रूस से खरीदता है। वहीं गत पांच सालों में चीन का हथियार बेचने का बिजनेस लगभग दोगुना हो गया है। चीन से पाकिस्तान, बांग्लादेश और म्यांमार जैसे देश हथियार खरीदते हैं



अमेरिका हथियार का सबसे बड़ा निर्यातक देश
एसआईपीआरआई द्वारा जारी रिपोर्ट में बताया गया है कि निर्यातक देशों की श्रेणी में अमेरिका की सबसे ज्यादा तैंतीस प्रतिशत हिस्सेदारी है और सऊदी अरब सबसे बड़ा ग्राहक है। पचीस प्रतिशत के साथ रूस दूसरे और 5.9 प्रतिशत के साथ चीन तीसरे स्थान पर है। अमेरिका 96 देशों को हथियार निर्यात करता है।




चीन के हथियारों का सबसे बड़ा आयातक देश है पाकिस्तान

चीन के हथियारों का सबसे बड़ा आयातक देश पाकिस्तान है। चीन और पाकिस्तान के बीच करीबी की वजह रणनीतिक के अलावा आर्थिक सहायता भी है। चीनी हथियारों का सबसे बड़ा खरीददार पाकिस्तान है। चीन पैंतीस प्रतिशत हथियार पाकिस्तान को निर्यात करता है। इस पर भारत कई बार कड़ा विरोध जता चुका है।