जेएनयूः ईरानी के महिषासुर वाले बयान पर राज्यसभा में हंगामा

जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय में महिषासुर दिवस पर स्मृति ईरानी के बयान पर शुक्रवार को संसद में हंगामा हुआ। कांग्रेस समेत विपक्ष ने ईरानी से अपने बयान...

जेएनयूः ईरानी के महिषासुर वाले बयान पर राज्यसभा में हंगामा



mahishashuraजवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय में महिषासुर दिवस पर स्मृति ईरानी के बयान पर शुक्रवार को संसद में हंगामा हुआ। कांग्रेस समेत विपक्ष ने ईरानी से अपने बयान पर माफी मांगने को कहा। विपक्ष ने ईरानी के बयान को संसद की कार्यवाही से हटाने की भी मांग की। शुक्रवार को ही अरुण जेटली इकोनॉमिक सर्वे पेश करेंगे। यह मुद्दा अब बीजेपी के एक सांसद के गले की फांस बन गया है। एक अखबार ने खुलासा किया है कि जेएनयू में वर्ष 2013 में मनाए गए महिषासुर शहादत दिवस कें कार्यक्रम में वर्तमान बीजेपी सांसद उदित राज भी शामिल हुए थे, हालांकि सांसद उदित राज ने सफाई देते हुए कहा है कि वे उस समय पार्टी में नहीं थे और न हीं सांसद थे। उस समय वे एक सामाजिक कार्यकर्ता थे और वे इस कार्यक्रम में अपना विचार रखने गए थे। उन्होंने कहा कि वे बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के विचारों को मानते हैं।

राज्यसभा में गुरुवार को स्मृति ईरानी ने एक पर्चा पढ़कर बताया था कि जेएनयू में दुर्गा की बजाय महिषासुर का महिमामंडन किया जाता है और महिषासुर शहादत दिवस मनाया जाता है। महिषासुर को दलितों का राजा बताया गया है। ईरानी ने कहा था कि दुर्गा पूजा पर जेएनयू में महिषासुर की पूजा गई थी। स्मृति ईरानी ने कहा कि वहां मां दुर्गा और महिषासुर के विषय में आपत्तिजनक पोस्टर लगाए गए।जब स्मृति ईरानी ने इस पर्चे को पढ़ना शुरू किया तो विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया।