एमपी विधानसभा भर्ती घोटालाः कोर्ट में पेश हुए दिग्विजय, जारी किया गया था वारंट

मध्यप्रदेश विधानसभा भर्ती घोटाले के मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ गत शुक्रवार को...

एमपी विधानसभा भर्ती घोटालाः कोर्ट में पेश हुए दिग्विजय, जारी किया गया था वारंट



digvijaysinghमध्यप्रदेश विधानसभा भर्ती घोटाले के मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ गत शुक्रवार को स्थानीय अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किया था। कोर्ट की ओर से गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद दिग्विजय सिंह पेश हुए। मामले की अगली सुनवार्इ 14 मार्च को होगी। आदलात ने भर्ती घोटाले मामले में सिंह के अदालत में उपस्थित नहीं होने पर उनके खिलाफ गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। इससे पहले पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले में अदालत में 169 पृष्ठों का आरोपपत्र पेश किया। राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह को शुक्रवार अदालत में पेश होने के लिए समन जारी किया गया था।

उधर इस घोटाले के मामले में के. के. कौशल और ए. के. प्यासी समेत सात अन्य आरोपियों को अदालत द्वारा तीस हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी गई। अदालत ने मामले में अगली सुनवाई की तिथि 14 मार्च तय की है। मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा इस मामले में आरोपपत्र दाखिल करने से पहले पिछले वर्ष पंद्रह अक्तूबर को दिग्विजय सिंह से करीब पांच घंटे तक पूछताछ की जा चुकी है। सिंह पर वर्ष 1993 से वर्ष 2003 के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री रहने के दौरान मप्र विधानसभा भर्ती घोटाले में शामिल होने का आरोप है। दिग्विजय पर भर्ती के दौरान अनियमि‍तता बरतने का आरोप है।