अनदेखी से नाराज़ जेएनयू चीफ प्रॉक्टर का इस्तीफा

दिल्ली का जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय पिछले दिनों जो बवाल मचा...उसकी आंच अभी ठंडी नहीं हुई है...जेएनयू कैंपस में 9 फरवरी को कथित तौर पर देश विरोधी...

अनदेखी से नाराज़ जेएनयू चीफ प्रॉक्टर का इस्तीफा

msid-51265973,width-300,resizemode-4,krishna1

दिल्ली का जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय पिछले दिनों जो बवाल मचा...उसकी आंच अभी ठंडी नहीं हुई है...जेएनयू कैंपस में 9 फरवरी को कथित तौर पर देश विरोधी नारों के मामले में अब तक विश्वविद्यालय प्रशासन के अंदर घमासान मचा हुआ है...जिसका परिणाम ये हुआ कि चीफ प्रॉक्टर कृष्ण कुमार ने 29 फरवरी को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

दरअस्ल ख़बरे मिल रही हैं कि बीती 9 फरवरी को देश विरोधी नारेबाजी मामले की जांच के लिए 11 फरवरी को जेएनयू प्रशासन ने एक समिति गठित की थी...इस जांच समिति के प्रमुख कृष्ण कुमार थे....लेकिन कुछ घंटे बाद ही प्रशासन की तरफ से एक औऱ उच्च स्तरीय समिति बना दी गई....जिसके बनते ही पहली समिति की जांच में कोई भूमिका नहीं रह गई...औऱ इसी बात से नाराज़ थे कृष्ण कुमार।

बताया ये भी जा रहा है कि कृष्ण कुमार.....विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से की गई उस कार्रवाई से नाराज़ थे....जो 9 फरवरी को जेएनयू कैंपस में हुई घटना के बाद.....विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से शुरु की गई....इसके साथ ही कृष्ण कुमार अपनी अनदेखी से भी खफ़ा थे।