जम्मू-कश्मीरः महबूबा ने भाजपा के साथ सरकार बनाने के दिए संकेत

करीब दो महीने की सियासी उठापटक के बाद पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने सरकार बनाने को लेकर भाजपा के साथ गठबंधन के संकेत दिए हैं। उन्होंने शुक्रवार को...

जम्मू-कश्मीरः महबूबा ने भाजपा के साथ सरकार बनाने के दिए संकेत



mahboobaकरीब दो महीने की सियासी उठापटक के बाद पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने सरकार बनाने को लेकर भाजपा के साथ गठबंधन के संकेत दिए हैं। उन्होंने शुक्रवार को राज्यपाल एनएन वोहरा से एक घंटे तक मुलाकात की और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की। इस मुलाकात से राज्य में नई सरकार बनने की संभावना बढ़ गई है। महबूबा ने अपने दिवंगत पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद का उल्लेख करते हुए कहा कि उन्होंने भाजपा के साथ एक पार्टी के तौर पर हाथ नहीं मिलाया था बल्कि वह गठबंधन केंद्र सरकार और जम्मू-कश्मीर के लोगों के बीच था जिसका मकसद राज्य के लोगों की भलाई करनी थी। महबूबा ने अपनी पार्टी का सदस्यता अभियान शुरू करते हुए कहा, मुझे इस बात की परवाह नहीं कि लोग मुझ पर भाजपा के साथ आगे बढ़ने का आरोप लगाते हैं। उन्होंने कहा कि जब लोगों के हित का सवाल आया तो मेरे पिता ने पार्टी की कभी परवाह नहीं की। वह सब कुछ से ऊपर उठे और लोगों के कल्याण के लिए भाजपा के साथ हाथ मिलाया। साथ ही महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वे कोई ‘हठी’ महिला नहीं हैं, पार्टी के नेता सरकार का गठन चाहते हैं। लेकिन वे ऐसा तभी करेंगी जब उन्हें महसूस होगा कि बड़े उद्देश्य की पूर्ति हो गई। अगर भाजपा के साथ गठबंधन का मकसद पूरा होता है, तो उन्हें सरकार बनाने में कोई आपत्ति नहीं है। महबूबा ने कहा कि वे जम्मू-कश्मीर में शांति चाहती हैं।

महबूबा ने कहा कि उनके पिता का सपना था कि जम्मू-कश्मीर में शांति कायम हो और खूनखराबे पर रोक लगे। उन्होंने कहा, जब मेरे पिता ने भाजपा के साथ हाथ मिलाया तो उनका मकसद क्षेत्र में शांति लाना था। बता दें कि 87 सदस्यीय जम्मू- कश्मीर विधानसभा में महबूबा की पार्टी पीडीपी के 27 विधायक हैं।