पठानकोट हमले के खर्च का पैसा मांगा केंद्र ने

पिछले दिनों पंजाब के पठानकोट में एयरफोर्स एयरबेस पर हुए आंतकी हमले के दौरान ऑपरेशन में हुए खर्च का ब्यौरा केंद्र सरकार ने पंजाब सरकार को दिया है।...

पठानकोट हमले के खर्च का पैसा मांगा केंद्र ने

pathankot attackपिछले दिनों पंजाब के पठानकोट में एयरफोर्स एयरबेस पर हुए आंतकी हमले के दौरान ऑपरेशन में हुए खर्च का ब्यौरा केंद्र सरकार ने पंजाब सरकार को दिया है। केंद्र सरकार द्वारा दिए इस ऑपरेशन पर किए गए खर्च 6.35 करोड़ रुपये का बिल पंजाब सरकार को भेजा गया है। एक अंग्रेजी अखबार ने इस बाबत एक खबर छापी है जिसमें कहा गया है कि पंजाब सरकार ने केंद्र के उस बिल के भुगतान से मना कर दिया है जो पठानकोट हमले के दौरान ऑपरेशन के लिए खर्च हुए थे।
अखबार के मुताबिक पठानकोर्ट हमले के दौरान आतंकियों को पकड़ने के लिए केंद्र सरकार ने अर्धसैनिक बलों की बीस कंपनियां 26 दिनों तक जिले में तैनात की थी जिसपर केंद्र सरकार के 6.35 करोड़ रुपये खर्च हुए। इसी खर्च का बिल केंद्र ने पंजाब सरकार को भेजा था। पंजाब सरकार ने इस बिल के भुगतान के जवाब में कहा है कि यह राष्‍ट्रीय सुरक्षा का मामला है इसलिए इस खर्च को केंद्र की ओर से माफ किया जाना चाहिए। अखबार में छपी खबर के अनुसार केंद्र को फोर्स की तैनाती पर प्रतिदिन करीब 1,77,143 रुपये का खर्च उठाना पड़ा।

बता दें कि नए साल के आरंभ में दो जनवरी को हुए पठानकोट एयरबेस पर आतंकियों ने हमला कर दिया था जिसके बाद केंद्र की ओर से अर्द्ध सैनिक बलों की बीस कंपनियां पंजाब भेजी गईं थीं। ये कंपनियां दो से 27 जनवरी तक पंजाब में तैनात रहीं। इन बलों में ग्यारह सीआरपीएफ जबकि नौ बीएसएफ की कंपनी थीं जिसने वहां के हालात को काबू पाने में राज्य प्रशासन की मदद की।

ज्ञात हो कि पंजाब की बादल सरकार की तरफ से उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने केंद्र सरकार को पत्र के जवाब में कहा है कि ये सभी यूनिट राष्ट्रहित में तैनात की गई थीं इसलिए इनका खर्चा राज्य सरकार को नहीं उठाना चाहिए। उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्रालय से बिल माफ करने की मांग की है।