अमेरिकी मस्जिदों को धमकी भरे पत्र मिले, मुस्लिमों को कहा गया- अपनी बाेरीया बिस्तर बैग बांधीये और खिसक लीजिए

कैलिफोर्निया के तीन मस्जिदों और जॉर्जिया के एक मस्जिद को गुमनाम व्यक्ति के हस्तलिखित पत्र मिले हैं, चुनाव के दिन से ही मुसलमान विरोधी कट्टरता बढ़ी है

अमेरिकी मस्जिदों को धमकी भरे पत्र मिले, मुस्लिमों को कहा गया- अपनी बाेरीया बिस्तर बैग बांधीये और खिसक लीजिए

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद मुस्लिमों के खिलाफ घृणा अपराध में तेजी की खबरों में देखने काे मिल रही है। इसी बीच अमेरिका के कुछ मस्जिदों को कथित तौर पर धमकी भरे पत्र और ईमेल मिले हैं। अब तक कैलिफोर्निया के तीन मस्जिदों और जॉर्जिया के एक मस्जिद को गुमनाम व्यक्ति के हस्तलिखित पत्र मिले हैं। इन पत्रों में मुस्लिमों को चेतावनी देते हुए लिखा गया है, ‘आप अपनी बाेरीया बिस्तर बांधीये और खिसक लीजिए क्योंकि ट्रंप अमेरिका को साफ करने और इसे फिर से चमकदार बनाने जा रहे हैं।’ अमेरिकी-इस्लामी संबंध परिषद (सीएआईआर-जीए) के कार्यकारी निदेशक एडवर्ड अहमद मिशेल ने मीडिया काे बताया कि चुनाव के दिन से ही मुसलमान विरोधी कट्टरता बढ़ी है।

उन्होंने आगे कहा, ‘जो भी यह पत्र भेज रहा है, उन्हें यह मालूम होना चाहिए कि उन लोगों ने ऐसा करके केवल हमारी आस्था को मानने, अपने अधिकारों की रक्षा करने और पड़ोसियों के साथ रिश्ता बनाने के हमारे संकल्प को और मजबूत किया है।’ उन्हाेने बताया कि इसे यह दर्शाया जा रहा है कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ट्रंप के चुने जाने के बाद से ही  मुसलमानाें काे  घृणा की नजर से देखा जा रहा है।

(सीएआईआर-जीए) के लॉस एंजिलिस चैप्टर के निदेशक हुसम एलॉश ने बताया कि नफरत फैलाने वाले ये पत्र मुस्लिमों को धमकाने के लिए तैयार किये गये हैं। एक बयान में सीएआईआर ने दावा किया है कि आठ नवंबर के आम चुनावों के बाद देश भर में मुस्लिम विरोधी 100 से अधिक घटनाएं हुई हैं। साउदर्न पोवर्टी लॉ सेंटर ने विभिन्न अल्पसंख्यक समूहों को निशाना बनाकर की गयी 700 घटनाओं को दर्ज किया है। अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में निवार्चित होने के बाद ट्रंप ने सभी तरह के घृणा अपराधों के खिलाफ बात की थी। हालांकि देश के विभिन्न हिस्सों के मस्जिदों को मिल रहे धमकी भरे पत्र को लेकर उन्होंने कोई बयान नहीं दिया है। ट्रांजिशन टीम को भेजा गया इससे जुड़ा एक सवाल अब भी अनुत्तरित है।