भोपाल: एनकाउंटर में मारे गए कैदियों को बताया शहीद

भोपाल सेंट्रल जेल से फरार होने के बाद एनकाउंटर में मारे गए 5 कैदियों को शहीद बताने का मामला सामने आ रहा है।

भोपाल: एनकाउंटर में मारे गए कैदियों को बताया शहीद



भोपाल सेंट्रल जेल से फरार होने के बाद एनकाउंटर में मारे गए 5 कैदियों को शहीद बताने का मामला सामने आ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी कब्र पर शिलालेख लगाए गए हैं। इसमें उनका गुणगान करते हुए उनकी मौत को शहादत बताया गया है। वहीं प्रदेश का खुफिया विभाग इससे अनजान है, जबकि स्थानीय पुलिस इसकी जानकारी जुटाने में लगी है।

गौरतलब है कि जेल तोड़कर भागे सभी 8 कैदी 31 अक्तूबर को एनकाउंटर में मारे गए थे। इनमें अकील खिलजी, मेहबूब उर्फ गुड्डू, अमजद, जाकिर और सलीक भी शामिल था। इन्हें जनाजे के दिन से ही शहीद बताने की कोशिश की जा रही है। बता दें कि गुलमोहर कॉलोनी से बड़ा कब्रिस्तान के बीच निकाले गए जनाजे के दौरान भी लोगों ने इनकी शहादत के नारे लगाए थे। कब्रिस्तान में पांचों को पास-पास ही दफनाया गया था।

वहीं अब कब्र के चारों ओर सीमेंट कांक्रीट किया गया है। कब्र के सामने शिलालेख लगा दिए गए हैं। इन शिलालेखों पर आतंकियों के नाम के साथ ही उनकी मौत को अच्छे काम के लिए दर्शाया गया है। शहादत का उल्लेख करने के साथ ही आयत भी लिखी गई है।

बता दें कि जनाजे में शामिल लोग और पुलिस अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की करने वालों पर भी अब तक कार्रवाई नहीं की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस प्रशासन ने जनाजे की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई थी। बताया जा रहा है कि वीडियो रिकॉर्डिंग खुफिया जांच एजेंसियों को दे दी गई है।