घबराएं नहीं, जल्द सामान्य हाेंगे हालात - RBI

देशभर में नोटबंदी को लेकर आरबीआई का बयान, कहा- घबराएं नहीं, 'जल्द नहीं सामान्य हो जाएंगे हालात'

घबराएं नहीं, जल्द सामान्य हाेंगे हालात - RBI

नाेटबंदी के बाद पूरे देश भर के लाेगाें को हाे रही परेशानी काे मद्देनजर सरकार के शीर्ष सूत्रों का कहना है कि बैंकों का कामकाज इस महीने के अंत तक सामान्य हो जाएंगे, क्योंकि 500 आैर 2,000 रुपये के नए नोटों की छपाई का काम लगभग पूरा हो चुका है, और देशभर में मौजूद दो लाख से ज़्यादा एटीएम मशीनों के नए नोटों के आकार के हिसाब से री-कैलिब्रेट किए जाने का काम भी तब तक पूरा हो जाने की संभावना है, जिससे नकदी का संकट कम हो जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक, सरकार का मानना है कि बंद किए जा चुके 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों को नए नोटों से बदले जाने का काम बिल्कुल बंद कर दिया जाए, और फिर जब बैंकों का कामकाज सामान्य हो जाए, और एटीएम 2,000 रुपये के नए नोट निकालने लगें, तब पुराने नोटों को सिर्फ बैंकों में जमा किया जा सकेगा।

सरकार पुराने नोटों को नए नोटों से बदले जाने की रकम सीमा को पहले ही घटा चुकी है, बैंक या डाकघर के ज़रिये नोट बदलने की अनुमति भी सिर्फ एक बार के लिए है, लेकिन पुराने नोटों को बैंकों में जमा कराने की अंतिम तारीक 30 दिसंबर है।

सूत्रों के मुताबिक, बंद किए गए नोटों की जगह लेने के लिए 500 और 1,000 रुपये के नए नोटों के स्थान पर पहले 2,000 रुपये के नोट छापने का फैसला भी इसीलिए किया गया, क्योंकि सारी कार्रवाई को गुप्त रखते हुए सबसे कम समय में धन को बदलने का यही तरीका था। वैसे, अब सरकार ने 500 रुपये का नया नोट भी जारी कर दिया है।

गौरतलब है कि, बंद किए गए नोट देशभर में चल रहे कुल नोटों का 86 प्रतिशत हिस्सा थे, और उन्हें बदलने के लिए अब बैंक प्रणाली ज़ोरदार दबाव में है। रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने गुरुवार को कह कि लगभग दो महीने पहले ज़ोरशोर से शुरु की गई नए नोटों की छपाई के परिणामस्वरूप नए नोटों की पर्याप्त आपूर्ति हो रही है। रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने जनता से आग्रह किया है कि वे घबराएं नहीं, और नए नोटों की जमाखोरी न करें।