नोटबंदी के लिए 24 नवंबर का दिन रहा खास, बैंकों में बढ़ा ट्रांजिक्शन

नोटबंदी के दौरान जारी निर्देश के चलते 24 नवंबर पुराने नोटों के लिए खास रहा। इस दिन को सभी इमरजेंसी सेवाओं में पुराने नोट के इस्तेमाल का अंतिम दिन घोषित किया गया था...

नोटबंदी के लिए 24 नवंबर का दिन रहा खास, बैंकों में बढ़ा ट्रांजिक्शन

पुराने नोट बंद होने के बाद से 24 नवंबर का दिन पुराने नोटों के लिए काफी स्पेशल रहा। 24 नवंबर को सभी इमरजेंसी सेवाओं में पुराने नोट के इस्तेमाल का आखिरी दिन घोषित किया गया था। इसके बाद सभी जगहों पर नए नोटो से ही लेन देन किए जाने का निर्देश हैं। हालांकि दोपहर तक इस निर्देश में संशोधन की कई खबरें सामने आती रहीं, वहीं 24 नवंबर को अचानक ही बैंकों में कैश जमा करने की मात्रा बढ़ गई।

बता दें कि कल तक कैश की समस्या से जूझ रहे बैंकों में अकेले 24 नवंबर को ही शहर के 14 बैंकों में 22 करोड़ रुपए का डिपाजिट दर्ज किया गया। इसमें से ज्यादातर पैसे करंट एकाउंट में जमा हुए है। इसे व्यापारियों और फर्माे के अब तक रुके पैसों की आवक मानी जा रही है।

वहीं निजी फर्माें में चल रहे नोटों के माध्यम से शहर में रोजाना 1.50 करोड़ रुपए के पुराने नोट पेट्रोल पंपों के माध्यम से खप रहे थे। इसके अलावा मेडिकलों में भी बड़ी संख्या में पुराने नोटो से लेन-देन जारी थी। लेकिन सेवा बंद होने के अंतिम दिन इन जगहों पर पहुंचने वाले पुराने नोट सीधे बैंकों में पहुंच गए। हालांकि नोट एक्सचेंज करने व जमा करने की अंतिम तारीख 30 दिसंबर तय की गई है। इससे आने वाले दिनोें में जमा करने और रुपए बदलने वालों की भीड़ जुटती ही रहेगी।

साथ ही पुराने नोट को लेकर अब तक किसी तरह का निर्देश हम तक नहीं पहुंचा है। पुराने नोट जमा करने व एक्सचेंज करने का कार्य बैंकों में यथावत जारी रहेगा। इमरजेंसी सेवाओं वाले फर्माें से भी नोट लेने को लेकर कोई निर्देश नहीं आए हैं। केडी गुप्ता, मैनेजर, लीड बैंक

इधर शहर के सभी बैंकों में गुरुवार की सुबह 500 के नए नोटों की खेप पहुंच गई है। प्रबंधन इन नोटों को एटीएम मशीनों में डालना शुरू कर दिया है। इसके बाद लोगों को हो रही दिक्कत से राहत मिलनी शुरु हो गई है। 500 के नए नोट पहुंचने के बाद बाजार में भी चिल्हर को लेकर हो रही समस्या खत्म होने की उम्मीद है। इधर गुरुवार को ही 40 नए व्यापारियों ने पीओएस के लिए आवेदन दिया है। इससे कैशलेस ट्रांजक्शन बढ़ेगा।

पुराने नोटों के इस्तेमाल का अंतिम दिन मानकर बकायदारों की बड़ी संख्या भी गुरुवार को निगम पहुंची। बीते कुछ दिनों से कम हो चुके टैक्स जमा में इस दिन फिर उछाल आ गया। गुरुवार की शाम तक करीब 28 लाख रुपए बकाया टैक्स के रुप में जमा हुए है। गुरुवार को जमा हुए टैक्स के बाद अब तक निगम में 2 करोड़ 30 लाख का बकाया जमा हाे चुका है। शुक्रवार को पुराने नोटों से जमा लिया जाएगा या नहीं इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हुई।