यूपी: दलित महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म

पिडिता के परिवार ने पुलिस पर लगाया अाराेप, पुलिस दे रही अाराेपियाें काे संरक्षण

यूपी: दलित महिला के साथ  सामूहिक दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश के मथूरा जिला के गांव सिहाना क्षेत्र की एक दलित महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बतां दे कि 19 अक्टूबर को रिपोर्ट के अनुसार पिडिता महिला अपने बहन के गांव जा रही थी। तभी रस्ते में एक ठाकुर जाति से संबंध रखने वाले विनोद, मोहनश्याम और एक अन्य आज्ञात व्यक्ति ने कार में खिंचकर महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

इस गेंगरेप के 15 दिनों के बाद भी  पुलिस अभी तकअराेपियाें के खिलाफ कोई रिपोर्ट नहीं दर्ज कि है, पिड़िता के परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस आपराधियों को संरक्षण दे रहा है। क्योंकि आरोपी एक प्रबल समुदायक का है। ऊल्टा पुलिस उन पर  लिए दबाव डाल रहा है।

सूत्रों के हवाले से बता दे कि इस घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी ने पीड़िता के घर जाकर उसके परिवार वालों को डराया और धमकाया  कि अगर केस वापस नहीं लिया ताे जान से मारदेंगे।

अम्बेडकरवादी एक्टिविस्त विजय गिहार, ने मीडिया को बताते हुए कह कि पुलिस आरोपियों को खुले आम छोड़ रखी हैं जिससें जाहिर होता है कि पुलिस आपराधियों को संरक्षण दे रही है। और वही पर पिड़िता को न्याय दिलाना नही चाहती है। उनका कहना हे कि जब से देश में मोदी सरकार आई है तब से पूरे भारत में दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ तेजी से अपराध बढ़ रहा है।