नोटबंदी इफेक्ट: मेरठ में एक बेटी ने किया शादी से इन्कार

मेरठ में रहने वाली रितु की शादी की तिथि 13 दिसंबर नजदीक आ गई है। परिवार को तैयारी के मद्देनजर वापस गांव जाना है लेकिन बैंक से पैसा नहीं निकल रहा, इसलिए परेशान रितू ने लिया ये फैसला...

नोटबंदी इफेक्ट: मेरठ में एक बेटी ने किया शादी से इन्कार

500 और 1000 रुपए के नोटों के बैन के चलते पूरे देश में नकदी का संकट आ गया है। नोट बैन का सबसे बड़ा असर शादी विवाह  के कार्यक्रम पर पड़ रहा है। कुछ लोगों ने तो किसी तरह कार्यक्रम निपटाया है, जबकि कुछ लोगों ने कार्यक्रम टाल दिया है। हाल ही में खबर आई है कि मेरठ की रहने वाली  एक लड़की ने नकदी संकट के कारण मां-बाप की पीड़ा को देखकर विवाह से इंकार कर दिया है।

इसमें कोई दोराए नहीं है, कि नोटों की टंगी ने मध्यमवर्गीय परिवार के विवाह आयोजन पर संकट के बादल ला दिए हैं। जैसे- जैसे  शादी की तारीख नजदीक आ रही है वैसे ही वैसे ही लोगों की परेशानियों में तब्दिली होती दिख रही है। सरकार के दावों के विपरीत बैंक शादी के लिए खाते से ढाई लाख रुपया नहीं दे रहे। पीडि़त लोग जनप्रतिनिधियों से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों तक से गुहार लगा लगाते रहे पर कोई लाभ नहीं हुआ। इनही  हालातों को देखते हुए मेरठ की इस बेटी ने शादी से ही इन्कार कर दिया है।

आपको बता दें, गोरखपुर के कोहराखुर्द निवासी राम अशीषचंद वर्षो पूर्व रोजगार के लिए मेरठ के मवाना में आ गए थे। उनकी बेटी रितु ने पढ़-लिखकर बुटिक खोल लिया। रितु अपनी कमाई का धन पंजाब नेशनल बैंक में खाता खोल जमा कर दिया गया। अशीषचंद ने सोचा था कि यह धन बेटी की शादी में काम आ जाएगा, लेकिन नोटबंदी अरमानों पर पानी फेर दिया।

रितु की शादी की तिथि 13 दिसंबर नजदीक आ गई है। परिवार को तैयारी के मद्देनजर वापस गांव जाना है लेकिन बैंक से पैसा नहीं निकल रहा। करीब एक सप्ताह भर से लाइन में लगने के बावजूद सरकार की घोषणा अनुसार पर्याप्त धन नहीं मिल रहा है।