नोटबंदी को लेकर हंगामे के बाद दोनों सदन सोमवार तक स्थगित

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को लेकर संसद के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन भी हंगामे के बाद दोनों सदन को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

नोटबंदी को लेकर हंगामे के बाद दोनों सदन सोमवार तक स्थगित

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को लेकर संसद के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन भी हंगामे के बाद दोनों सदन को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

नोटबंदी को लेकर एक तरफ पूरा देश परेशान है। वहीं दूसरी तरफ संसद से लेकर सड़क तक हंगामा मचा हुआ है। संसद के शीतकालीन सत्र में भी विपक्ष हमलावर है। ऐसे हालातों में लोकसभा और राज्यसभा में में हंगामा मचा हुआ है।

गौरतलब है कि राज्यसभा में नोटबंदी पर बुधवार को चर्चा शुरु हुई थी लेकिन विपक्षी दलों के शोर शराबे के कारण आगे नहीं बढ़ सकी थी और भारी हंगामे के बाद दोनों सदनों को स्थगित करना पड़ा था। इसी तरह गुरुवार को भी राज्यसभा और लोकसभा में नोटबंदी के मुद्दे को लेकर जारी हंगामे के चलते कोई काम नहीं हो सका है।

बता दें कि विपक्षी दल पीएम के सदन में मौजूद रहने और जवाब देने की मांग कर रहे थे। वहीं लोकसभा में मतदान के प्रावधान वाले नियम के तहत चर्चा कराने की मांग पर विपक्षी दलों के हंगामे के कारण निचले सदन की कार्यवाही नहीं चल सकी है जबकि सरकार नियम 193 के तहत चर्चा कराने को तैयार थी।

वहीं विपक्ष के हंगामे से निपटने की रणनीति के तहत पीएम ने शुक्रवार सुबह संसद भवन के अपने चैंबर में वरिष्ठ मंत्रियों अरुण जेटली, वेंकैया नायडू और अनंत कुमार के साथ मुलाकात की है। हालांकि सरकार पहले ही कह चुकी है कि वह किसी भी मुद्दे पर बहस को तैयार है। लेकिन विपक्ष सड़क से लेकर संसद तक सरकार को घेरने की रणनीति पर काम कर रहा है। सरकार की तरफ से नोटबंदी को लेकर कहा जा चुका है कि वो नोटबंदी के फैसले पर पीछे नहीं हटेगी।