गाने के बोल भूल जाने पर सहवाग ने रूकवाया मैच

पूर्व क्रिकेटर वीरेंन्द्र सहवाग ने सुनाया मजेदार किस्सा- गाने के बोल याद नहीं आए तो बीच में रुकवा दिया टेस्ट मैच, जानिए कौन- सा था वो गाना ।

गाने के बोल भूल जाने पर सहवाग ने रूकवाया मैच

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मैच कम ही वजहों से रोके जाते हैं। इनमें से ज्यादातर कारण प्राकृतिक होते हैं, पर क्या आपने सुना है कि कोई खिलाड़ी इस वजह से मैच रोक दे क्योंकि वह किसी गाने के बोल भूल गया है। शायद विश्व क्रिकेट में सिर्फ एक क्रिकेटर ऐसा कारनामा कर सकता है और उसका नाम है वीरेंद्र सहवाग।

जी हां, ऐसा असल में हुआ था। अप्रैल 2008 का, जब उन्होंने चेन्नई में साउथ अफ्रीका के खिलाफ तिहरा शतक बनाया। सहवाग ने अब इसका खुलासा किया है। यह तो आपको पता ही होगा कि सहवाग बैटिंग के दौरान कोई न कोई गाना गुनगुनाते रहते थे।

मीडिया रिपोटस् के मुताबिक, सहवाग ने कहा कि मैं चेन्नई में 300 रनों पर बल्लेबाजी कर रहा था। मैं एक गाने की कुछ लाइनें भूल गया तो मैंने 12वें खिलाड़ी इशांत शर्मा को मैदान पर बुलाकर कहा कि मेरे आईपॉड से गाने की लाइनें सुनकर आए और उसने ऐसा ही किया। सबने सोचा कि मैंने इशांत को ड्रिंक्स के लिए बुलाया है लेकिन कई बार 12वें खिलाड़ी को ऐसे भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

सहवाग ने बताया कि शोएब अख्तर को खेलते हुए वह 'आ देखें जरा, किसमें कितना है दम' वाला गाना गाना पसंद करेंगे।

सहवाग से जब पूछा गया कि बल्लेबाजी करते हुए वह हमेशा गाने क्यों गाते रहते हैं तो उन्होंने कहा, 'बॉल खेलने से पहले मैं यही सोचता रहता हूं कि इस पर मुझे चौका मारना है या छक्का। इसी चौके-छक्के के चक्कर में आउट होने से बचने के लिए मैंने गाना गुनगुनाना शुरू कर दिया।

सहवाग ने एक और दिलचस्प घटना का जिक्र किया। सहवाग ने कहा कि एक बार हमारा मुंबई में इंग्लैंड के खिलाफ मैच हो रहा था। दौरान एंड्र्यू फ्लिंटॉफ मुझे बार-बार बाउंसर मार रहे थे। मैंने उनके पास जाकर कहा, अगर तुम बाउंसर नहीं मारोगे तो मैं शाम को तुम्हें ऐसी जगह ले चलूंगा जहां बहुत अच्छी करी मिलती है और मेरी तरकीब काम कर गई।'