नए नाेटाें की माला पहने जनार्दन रेड्डी के दामाद की वायरल हुई गलत फाेटाे !

जनार्दन रेड्डी के दामाद के गले में नए नाेटाे की माला है। वहीं कुछ लाेगाें का कहना है कि यह फाेटाे जनार्दन रेड्डी के दामाद का नहीं है।

नए नाेटाें की माला पहने जनार्दन रेड्डी के दामाद की वायरल हुई गलत फाेटाे !

नाेटबंदी काे लेकर जहां पूरे देश में हंडकंप मचा हुआ है और लाेगाें काे अपने पैसे निकालने के लिए बैंकाे आैर एटीएम की लंबी लंबी कतारों में खड़ा हाेना पड़ रहा है वहीं दूसरी तरफ एक फोटो वायरल हो रहा जिसमें लोग ये कहते दिख रहे हैं कि नेताओं को नोटबंदी के फैसले का कोई असर नहीं हुआ है। साेशल मीडिया पर वायरल हाे रहे एक फाेटाे के बारे में लाेगाें का कहना है कि यह फाेटाे जनार्दन रेड्डी के दामाद का है। इस फाेटाे में देखा जा सकता है कि रेड्डी के दामाद के गले में नए नाेटाे की माला है। वहीं कुछ लाेगाें का कहना है कि यह फाेटाे जनार्दन रेड्डी के दामाद का नहीं है।

उधर पीएम मोदी के पुराने 500 और 1000 रुपए के नाेटाें काे अवैध घाेषित करने के बाद से पूरे देश में अब तक करीब 70 से ज्यादा लेगाें की मरने की घटना सामने आई है। आपकाे बताेदें कि बीते 8 नंवबर काे फीएम माेदी ने 500 आैर 1000 रुपए काे अवैध करने के बाद से पूरा देश में हहकार मचा हुआ है। बैंकाे आैर एटीएम में लंबी कतार देखने काे मिल रही है, लाेग काे घंटाे लाइन में खड़े रहने के बाद भी पैसे नहीं मिल रहा है।

इस नाेटबंदी के फैसले काे लेकर संसद के शीतकालीन सत्र में राेज हंगामा हाे रहा है, विपक्षी दल कई दिनों से प्रधानमंत्री को संसद में आकर चर्चा में हिस्सा लेने की मांग कर रही थी। इस बीच आज प्रधानमंत्री लोकसभा में पहुंचे लेकिन खामोश रहे। विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले को वापस करने की मांग कर रहा है वहीं केंद्र सरकार का कहना है कि इसे किसी कीमत पर वापस नहीं लिया जाएगा। पार्टियां इस मामले को लेकर संसद चलने नहीं दे रही है। उनकी मांग है कि इस फैसले को वापस लिया जाए।

केंद्र सरकार के नोटबंदी के खिलाफ पूरी तरह लामबंद हो चुका है। विपक्षी पार्टियों का कहना है कि इससे आम लोग परेशान हो रहे हैं, गरीब, मजदूर काम करने के बजाए एटीएम और बैंक की कतार में खड़े होकर अपना समय बर्बाद कर रहे हैं। केंद्र सरकार के इस कदम से गरीब लोगों के सामने रोजी रोटी की समस्या खड़ी हो गई है। पिछले दिनों पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत अन्य विपक्षी पार्टी के नेताओं के साथ दिल्ली में मार्च निकाला था। उन्होंने इसके बाद राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा था।

(नाेट इस फाेटाे की जांच नारदा न्यूज ने नहीं की है)