कानपुर-झांसी रूट पर ट्रेनों का आना-जाना शुरू, मरने वालों की संख्या हुई 148

उत्तर मध्य रेलवे के पीआरओ अमित मालवीय ने जानकरी दी है कि कानपुर झांसी रूट का ट्रैक ठीक हो गया है और उस पर ट्रेनों का आना-जाना शुरू हो गया है...

कानपुर-झांसी रूट पर ट्रेनों का आना-जाना शुरू, मरने वालों की संख्या हुई 148

रविवार को इंदौर पटना एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना होने के बाद करीब 148 लोगों की मौत हो गई है और करीब 150 से ज्यादा लोग घायल हो गए। लेकिन उसके बाद मंगलवार को कानपुर झांसी रूट पूरी तरह से सामान्य हो गया है और सुरक्षा जांच के बाद इस रूट पर रेलगाड़ियों का आना जाना फिर से शुरू हो गया है। इस बीच अस्पताल में भर्ती दो और घायलों की मृत्यु के बाद हादसे में मरने वालों की संख्या 148 हो गयी।

बता दें कि उत्तर मध्य रेलवे के पीआरओ अमित मालवीय ने जानकरी दी है कि कानपुर झांसी रूट का ट्रैक ठीक हो गया है। उसके बाद सबसे पहले इस ट्रैक पर ट्रायल रन के तौर पर कानपुर से एक खाली माल गाड़ी रवाना की गयी। टेक्निकल टीम ने मालगाड़ी के गुजर जाने के बाद एक बार फिर रेल पटरी की जांच की और इसे रेल यातायात के आने-जाने के लिये सुरक्षित पाया। इसके बाद सवरे से इस कानपुर झांसी रूट पर रेलगाड़ियों का आना-जाना शुरू कर दी गई है। अब कानपुर झांसी रूट की सभी ट्रेन निर्धारित समय से चल रही है।

वहीं उधर, कानपुर जोन के आईजी पुलिस जकी अहमद ने बताया कि ट्रेन दुर्घटना में घायल दो अन्य यात्रियों की इलाज के दौरान मौत हो गयी, जिससे हादसे में मरने वालो की संख्या 148 हो गयी है। इन दोनों यात्रियों की पहचान की कोशिश की जा रही है। बचे हुए घायलों का इलाज चल रहा है इसमें से कुछ की हालत नाजुक बनी हुई है। कानपुर के हैलट अस्पताल में घायल मरीजों की मदद के लिये मध्य प्रदेश और बिहार के अधिकारियों ने हेल्प डेस्क बनाई है। यहां इन राज्यों के पीड़ितों को हर तरह की मदद मुहैया कराई जा रही है।