फिदेल कास्त्रो की मौत के बाद मियामी में सड़कों पर मनाया जश्न

फिदेल कास्त्रों क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति और दुनियाभर में मशहूर कम्युनिस्ट नेता की मौत के बाद क्युबाई अमेरिकी लोगों ने मियामी की सड़कों पर जमकर जश्न मनाया।

फिदेल कास्त्रो की मौत के बाद मियामी में सड़कों पर मनाया जश्न



फिदेल कास्त्रों क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति और दुनियाभर में मशहूर कम्युनिस्ट नेता की मौत के बाद क्युबाई अमेरिकी लोगों ने मियामी की सड़कों पर जमकर जश्न मनाया। इन लोगों ने बड़ी संख्या में सड़कों पर आकर कार के हॉर्न, ड्रम और दूसरे इंस्‍ट्रूमेंट्स बजाकर अपनी इस खुशी का इजहार किया।

इसके अलावा उन्‍होंने क्यूबा के झंडे लहराए और कास्‍त्रो के खिलाफ भी नारेबाजी की उन्‍होंने कास्‍त्रो को तानाशाह बताते हुए भीषण नरसंहार के लिए भी जिम्‍मेदार भी ठहराया।

कम्यूनिस्ट शासनकाल के दौरान हवाना में निर्वासित किए गए लोगों ने कास्त्रों की मौत को सांप्रदायिक उन्माद का अंत करार दिया है। किसी भी देश में सबसे लंबे समय तक शासन करने वाले नेताओं में से एक फिदेल कास्त्रो का 90 साल उम्र में शनिवार को निधन हो गया।

गौरतलब है कि अमेरिका के मियामी में क्यूबाई-अमेरिकी लोगों की सबसे ज्यादा जनसंख्या है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जश्न मना रहे लोगों का कहना था कि कास्त्रो जैसे शख्स को पैदा ही नहीं होना चाहिए था।

मियामी में रहने वाले अधिकतर लोगों ने कास्‍त्रोे के चलते ही क्‍यूबा से पलायन करना पड़ा था। ऐसे ही एक शख्‍स पॉब्लो का कहना था कि उसको 20 साल पहले क्यूबा से पलायन करना पड़ा था।