लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर पहली बार एक साथ उतरेंगे मिराज-2000 और सुखोई

यूपी के सीएम अखिलेश यादव के अनुरोध पर पहली बार एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे मिराज-2000 और सुखोई...

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर पहली बार एक साथ उतरेंगे मिराज-2000 और सुखोई


पहली बार वायुसेना के चार मिराज- 2000 और चार सुखोई लड़ाकू विमान हाइवे पर उतरेंगे. आगरा-लखनऊ एक्‍सप्रेस-वे की ओपनिंग के दिन 21 नवंबर को एक साथ 8 फाइटर जेट टच डाउन करेंगे। 21 नवंबर को लखनऊ से 75 किलोमीटर दूर उन्नाव जिले के गंज मुरादाबाद नामक इलाके में आगरा-लखनऊ एक्‍सप्रेस-वे पर दोपहर 12.30 से 1 बजे के बीच वायुसेना के 8 फाइटर जेट लैंड करेंगे। इसके अलावा एक्‍सप्रेस-वे के उद्घाटन के वक्त वायुसेना के 3 किरन मार्क 2 विमान फ्लाई पास्ट करेंगे। इस मौके पर बड़ी संख्या में मौजूद लोग इस रोमांचक मौके के गवाह बन सकेंगे।


लखनऊ एक्सप्रेस-वे की हावाई पट्टी के निरीक्षण के लिए शुक्रवार को वायुसेना के अधिकारी उन्नाव के गंजमुरादाबाद क्षेत्र से गुजरने वाले लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर जुट गए थे। पहले वायुसेना के अधिकारियों ने जिलाधिकारी और अन्य प्रशासनिक अफसरों के साथ बैठक की इसके बाद हवाई पट्टी का निरीक्षण किया।





प्रमुख सचिव सूचना, धर्मार्थ एवं यूपीडा के चेयरमैन व मुख्य कार्यपालक अधिकारी नवनीत सहगल भी निरीक्षण के समय मौजूद थे। करीब एक बजकर सात मिनट पर पहली बार लड़ाकू विमान सुखोई ने हवाई पट्टी पर लो हाईट लैंडिंग की और हवा में उड़ गया। सफल लैंडिंग के साथ ही वायुसेना के अधिकारियों ने पूरे उत्साह के साथ दूसरे विमानों की बारी-बारी लैंडिंग कराई।


बता दें, 302 किमी लंबा लखनऊ-आगरा एक्स्प्रेस वे अखिलेश सरकार का ड्रीम प्रोजेक्‍ट है, इसे 22 महीने में पूरा किया गया है। एयर वाइस मार्शल राजेश इस्‍सर और सेंट्रल एयर कमांड के सीनियर ऑफिसर एडमिनिस्‍ट्रेशन ने एक्‍सप्रेस-वे का इंस्‍पेक्‍शन किया था। फाइटर जेट्स की सेफ लैंडिंग के लिए जरूरी सेफ्टी रिक्‍वायरमेंट्स जैसे बर्ड क्‍लीयरेंस, सेफ्टी सर्विसेज, रेस्‍क्‍यू व्हीकल्‍स, टेम्परेरी एयर ट्रैफिक कंट्रोल सेटअप की जरूरत होती है।