तमिलनाडु: मदुरै से अलकायदा के तीन संदिग्धों को एनआईए ने किया गिरफ्तार

तमिलनाडु के मदुरै शहर में विभिन्न जगहों पर छापामारी कर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अल-कायदा के तीन संदिग्ध सदस्यों को सोमवार को गिरफ्तार किया गया है।

तमिलनाडु: मदुरै से अलकायदा के तीन संदिग्धों को एनआईए ने किया गिरफ्तार

तमिलनाडु के मदुरै शहर में विभिन्न जगहों पर छापामारी कर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अल-कायदा के तीन संदिग्ध सदस्यों को सोमवार को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि ये तीनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश के 22 शीर्ष नेताओं पर कथित रूप से हमले की साजिश रच रहे थे।

एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि, 'ये सभी पांच धमाकों के मामलों में शामिल हैं। मल्लामपुर में हुए धमाके की जांच के दौरान छापामारी में कुछ पैम्फ़्लेट और पेन ड्राइव मिले थे. जब उनकी जांच हुई तो पेन ड्राइव में कुछ नेताओं के बारे में सामग्री थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में भी काफी जानकारियां थीं।'

अधिकारी के मुताबिक पेन ड्राइव में प्रधानमंत्री की तस्वीरें भी थीं और कुछ ठिकानों का जिक्र भी था तथा कुछ नंबर भी थे। जांच के दौरान ही हम इनको गिरफ्तार करने में कामयाब हो गए। एनआईए इसे अपनी बड़ी कामयाबी मान रहा है।

 पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी भारत में स्थित विभिन्न देशों के दूतावासों को धमकाने में भी शामिल थे। पुलिस ने कहा कि तीनों की पहचान एम. करीम, आसिफ सुल्तान मोहम्म्द और अब्बास अली के रूप में हुई है। करीम को पुलिस ने उस्माननगर से गिरफ्तार किया, जबकि आसिफ सुल्तान मोहम्म्द को जीआर नगर तथा अब्बास अली को इस्माइलपुरम से गिरफ्तार किया गया। उनके कब्जे से विस्फोटक पदार्थ भी जब्त किए गए हैं।

पुलिस ने कहा कि दक्षिण तमिलनाडु के मदुरै और उसके आसपास के क्षेत्रों से अल-कायदा कार्यकार्ताओं द्वारा अपनी गतिविधियां चलाए जाने संबंधी पुष्ट सूचनाओं के आधार पर एनआईए ने कई जगहों पर छापामारी की।  पुलिस ने कहा, 'उनके कब्जे से विस्फोटक सामग्री और हथियार जब्त किए गए हैं।'पुलिस के मुताबिक तीनों दक्षिण तमिलनाडु में कथित रूप से अल-कायदा की इकाई चला रहे थे. ये लोग देश की विभिन्न अदालत परिसरों में हुए विस्फोटों में भी कथित रूप से शामिल रहे हैं। उन्होंने कहा, एनआईए अल-कायदा के दो अन्य संदिग्ध कार्यकर्ताओं हकीम और दाऊद सुलेमान की तलाश कर रही है।