नीतीश कुमार और अमित शाह ने बनाया सीक्रेट प्लान, क्या बिहार में टूटेगा महागठबंधन ? नारदा न्यूज स्पेशल

अमित शाह और नीतीश कुमार की सीक्रेट मुलाकात हुई है और ये मुलाकात गुरुग्राम के एक फार्म में हुई है। जिसका अरेंजमेंट चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने किया था।

नीतीश कुमार और अमित शाह ने बनाया सीक्रेट प्लान, क्या बिहार में टूटेगा महागठबंधन ? नारदा न्यूज स्पेशल

अमित शाह और नीतीश कुमार की सीक्रेट मुलाकात हुई है और ये मुलाकात गुरुग्राम के एक फार्म में हुई है। जिसका अरेंजमेंट चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने किया था। खबरों के मुताबिक बिहार में महागठबंधन पर संकट के बादल छाए हुए है। नवभारत टाइम्स के मुताबिक नीतीश कुमार और अमित शाह की मुलाकात गुरुग्राम के एक फार्म हाउस में एक नवंबर को हुई थी। बैठक में बिहार की राजनीतिक हालात पर भी बात हुई है। ऐसे में जब बिहार में महागठबंधन के नेताओं के बीच सबकुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। लालू यादव और सीएम नीतीश कुमार के बीच मतभेद की खबरें है।  बिहार सरकार में कांग्रेस कोटे से मंत्री अशोक चौधरी ने कभी भी महागठबंधन के टुटने तक की बात कह डाली है। नीतीश कुमार नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम मोदी का खुलकर समर्थन कर रहे है। इशारा तो करीब करीब यही है कि बीजेपी और नीतीश कुमार के बीच कुछ ना कुछ खिचड़ी पक रही है। ये बात जगजाहिर है कि बिहार में नीतीश कुमार कंप्रोमाइज कर सरकार चला रहे है। ऐसे में नीतीश कुमार कही ना कही लालू यादव के दबाव से निकल कर एक बार फिर से बीजेपी से हाथ मिला सकते है। अगर ऐसा होता है तो बीजेपी को यूपी चुनाव में भी फायदा हो सकता है। इसी बीच जदयू ने साफ कर दिया है कि नोटबंदी को लेकर महागठबंधन में कोई तकरार नहीं है। जदयू के राजद और कांग्रेस भी जनता को हो रहे कष्ट के सवाल पर केंद्र सरकार को घेर रहे हैं।

प्रदेश जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि नोटबंदी के सवाल पर महागठबंधन में ना तो मनभेद है और ना ही मतभेद। महागठबंधन के तीनों ही दलों ने कभी भी नोटबंदी के फैसले को वापस लेने की मांग नहीं की है। जनता को हो रही परेशानी के समाधान के लिए हम सभी मिल कर सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष कर रहे हैं। राजनीति में दिखाने के दात अलग होते है और खाने के दात लग होते है। ऐसे में अगर अमित शाह और नीतीश कुमार की मुलाकात हुई है तो बिहार में कुछ ना कुछ तो होने वाला है।