नीतीश ने नोटबंदी पर किया मोदी का समर्थन, कहा- बेनामी संपत्ति वालों पर हमला करे सरकार

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पुराने बड़े नोट बंद किए जाने के फैसले को लेकर एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। नीतीश कुमार ने कहा कि बेनामी संपत्ति रखने वाले लोगों पर केंद्र सरकार को जल्द से जल्द हमला करना चाहिए।

नीतीश ने नोटबंदी पर किया मोदी का समर्थन, कहा- बेनामी संपत्ति वालों पर हमला करे सरकार

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने 500-1000 रुपए के नोट बंद किए जाने के फैसले को लेकर एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। नीतीश कुमार ने कहा कि मैं नोटबंदी के पूरे समर्थन में हूं। बेनामी संपत्ति रखने वाले लोगों पर केंद्र सरकार को जल्द से जल्द हमला करना चाहिए।

इस फैसले को लेकर नीतीश कुमार ने पहले भी पीएम मोदी की तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि हम मोदी सरकार द्वारा 500-1000 रुपए के नोट बंद करने की इस पहल की प्रशंसा करते हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने 500 -1000 रुपए के नोट बंद करने का ऐलान आठ नवंबर को किया था। पीएम मोदी ने कहा था कि इस कदम से देश में कालेधन और भ्रष्टाचार पर लगाम लगने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही लोगों को 31 दिसंबर तक अपने पुराने नोट बदलने या जमा कराने का समय भी दिया था।

एक तरफ नीतीश कुमार जहां पीएम मोदी की तारीफ कर रहे हैं, वहीं दूसरी विपक्षी दल पीएम मोदी पर इस फैसले को लेकर निशाना साध रहे हैं। इनमें बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती और कांग्रेस पार्टी शामिल हैं।

वहीं संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन संसद में विपक्षी पार्टियों ने नोटबंदी के मसले पर केंद्र सरकार को घेरा है। राज्यसभा में कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने चर्चा की शुरुआत करते हुए नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखे प्रहार किए। इसके बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्‍होंने राज्‍यसभा में कहा कि मैं राज्‍यसभा में बड़ी देर से जेटली जी को देख रही हूं और वे बहुत दुखी नजर आ रहे हैं। मायावती ने नोटबंदी पर चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी को भी सदन में बुलाने की मांग की। उन्‍होंने कहा कि यह संवेदशनील मुद्दा है, हम चाहते हैं कि पीएम राज्‍यसभा आएं और चर्चा में हिस्‍सा लें। मायावती ने फैसला लागू करने की सरकार की तैयारियों पर भी सवाल खड़े किए।