पाक ने भारत से कपास और सब्जी आयात पर लगाई रोक

सीमा पर तनाव के बीच पाकिस्तान ने भारत से कपास और सब्जियों के आयात पर लगाई रोक ।

पाक ने भारत से कपास और सब्जी आयात पर लगाई रोक

नियंत्रण रेखा पर तनाव बढ़ने के बीच पाकिस्तान ने भारत से कपास और सब्जियों समेत अन्य जिंसों का आयात रोक दिया है। पादप संरक्षण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, वाघा बॉर्डरक्रॉसिंग के जरिये कराची बंदरगाह तक भारत से कृषि जिंसों का आयात रोक दिया गया है।

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, भविष्य के आयात के लिए परमिट जारी करना भी बंद कर दिया गया है। कपास आयातकों और कस्टम क्लियरिंग एजेंटों का दावा है कि विभाग ने भारत से कृषि जिंसों का आयात बिना किसी चेतावनी या लिखित आदेश के रोक दिया है। डीपीपी के प्रमुख इमरान शमी ने इन आशंकाओं को खारिज करने का प्रयास किया।

इमरान शमी ने कहा कि हमने अपने किसानों के संरक्षण के लिए भारत से टमाटर और अन्य सब्जियों का आयात रोका है, क्योंकि हमारे पास इन जिंसों का पर्याप्त भंडार है। कपास के संदर्भ में शमी ने कहा, 'इस आयात को बंद नहीं किया गया है, इसे सिर्फ इन खबरों के बाद रोका गया है कि भारत निर्यातक जैव सुरक्षा शर्तों को पूरा नहीं कर रहे हैं। यदि हमारी यह धारणा गलत साबित होगी तो भारत से कपास आयात पर रोक हटा दी जाएगी।

पाकिस्तान ने 2015-16 में भारत से 27 लाख गांठ कपास का आयात किया था जो भारत के कपास निर्यात का 40 प्रतिशत है। उद्योग इस साल 20 लाख कपास गांठ के आयात की उम्मीद कर रहा है।

पाक आतंकियों ने 18 सितंबर को कश्मीर के उरी सेक्टर में सेना के एक कैंप पर हमला कर दिया था। इसमें कुल 20 भारतीय सौनिक शहीद हो गए थे। जिसके बाद 29 सितंबर को भारतीय सेना की तरफ से एलओसी पारकर पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक किया गया था। इसमें भारतीय सेना ने दावा किया था कि पीओके स्थित कई आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया है।

हालांकि, पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे का खंडन किया था। लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाकिस्तानी सेना ने 200 से अधिक बार सीमा पर सीजफायर का उल्लंघन किया है। इसमें दोनों देशों के दर्जनों जवानों की मौत हुई है।