ATM के बाहर लाइन में लगे लोगों से फिर मिले राहुल, नोटबंदी के सवाल पर आपस में भिड़े लोग

ATM के बाहर जब लोगों से राहुल ने मिलकर ये पूछा कि क्या पीएम का नोटबंदी फैसला सही है तो लोग उनके सामने ही आपस में भिड़ गए...

ATM के बाहर लाइन में लगे लोगों से फिर मिले राहुल, नोटबंदी के सवाल पर आपस में भिड़े लोग

सोमवार सुबह राहुल गांधी एक बार फिर एटीएम पहुंचे। नोटबंदी के बाद पैसा निकालने के लिए कतार में खड़े लोगों से मुलाकात की। समस्या जाननी चाही। दिल्ली के जहांगीरपुरी में राहुल के सामने ही कुछ लोग इस बात पर भिड़ गए कि नोटबंदी का फैसला सही है या गलत। कांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट को बीच-बचाव करना पड़ा। उन्होंने कहा, ''अच्छा भैया लड़ो मत।'' बता दें कि राहुल खुद लाइन में लग कर एसबीआई से पैसा निकाल चुके हैं। मुंबई में भी वे एटीएम के बाहर लोगों से मिलते देखे गए थे।

बता दें कि जैसे ही राहुल जहांगीरपुरी के एक एटीएम के पास पहुंचे लोगों की भीड़ लग गई। राहुल लोगों से बात कर रहे थे। इसी दौरान एक शख्स ने कहा, ''हमें थोड़ा सहयोग करना चाहिए।''  इस पर एक दूसरे शख्स ने कहा, ''आम जनता को परेशान कर रखा है।'' पहला शख्स, ''परेशानी से ही फ्यूचर बनता है।'' दूसरे ने कहा, ''सब धक्के खा रहे हैं। काहे की लाइन में लगे हैं, ये तो बता दो। सब अपना काम छोड़कर रोज एटीएम के बाहर लाइन में हैं।'' राहुल गांधी ने तीसरे शख्स से पूछा, ''अच्छा भैया आप बताओ, क्या दिक्कत है।'' दूसरे शख्स ने फिर बोलना शुरू किया, ''माल्या का फ्यूचर बना दिया उसने। जो मर रहा है, उनका क्या फ्यूचर है। जिनके घर में मौत हो रही है, उनसे पूछें।'' तब राहुल ने कहा, ''अच्छा भैया आप लोग लड़ो मत।'

गौरतलब है कि जहांगीरपुरी के बाद राहुल लोगों की समस्याएं सुनने इंद्रलोक के एक एटीएम के बाहर भी पहुंचे। इसके बाद राहुल सीधे दिल्ली के जकिरा इलाके के एक एटीएम पर पहुंचे। यहां भी उन्होंने लोगों की समस्याओं के बारे में पूछा।

इससे पहले भी राहुल गांधी नोट बदलवाने और लोगों की दिक्कतों को समझने के लिए बैंक की लाइन में लगे थे। तब उन्होंने कहा था कि ''मैं लाइन में लगना चाहता हूं। लोगों का दर्द बांटने आया हूं।'' पीएम मोदी की मां भी नोट बदलवाने के लिए लाइन में लगी थीं। सोशल मीडिया में दोनों मामलों को राजनीति कहा गया