50 हजार से ज्यादा नोट जमा कराने वाले खाते पर आरबीआई की कड़ी नज़र

आरबीआई ने यह साफ कर दिया है कि जिन बैंक खातों में 50 हजार रुपये से ज्यादा कि रकम जमा की जाएगी उनपर उसकी कड़ी नजर रहेगी...

50 हजार से ज्यादा नोट जमा कराने वाले खाते पर आरबीआई की कड़ी नज़र

नोटबंदी के बाद बैकों खातों में जमा होने वाले पैसों पर आरबीआई की कड़ी निगरनी रहेगी। ये संकेत आरबीआई ने दिए हैं। 31 दिसंबर तक नोट बदलने की समय सीमा है और इसी बीच आयकर विभाग की बैकों में जमा होने वाले पैसों पर कड़ी नजर रहेगी।

बता दें कि आरबीआई ने यह जानकारी भी दी कि 50 हजार रुपये से ज्यादा की रकम जमा कराने के लिए पैन कार्ड की जानकारी देना अनिवार्य होगा। इसके अलावा सरकार ने भी बैंकों और डाक घरों को यह निर्देश भी दिए हैं कि वह बचत खातों में ढाई लाख रुपये से ज्यादा और करेंट खातों में 12 लाख रुपये से ज्यादा की राशि जमा कराने वालों के बारे में आयकर विभाग को जानकारी दें।

गौरतलब है कि इसके अलावा को-ऑपरेटिव बैंकों को भी तय की गई रकम से ज्यादा की राशि जमा कराए जाने की स्थिति में आयकर विभाग को सूचित करना पड़ेगा। वित्त मंत्रालय ने भी बैंकों, को-ऑपरेटिव बैंकों और डाक घरों द्वारा दाखिल की जाने वाली सालाना इंफॉर्मेश रिटर्न रिपोर्ट के बारे में नए निर्देश दिए हैं।

साथ ही नए निर्देशों से पहले बैंक किसी एक खाते में साल भर में 10 लाख रुपये से ज्यादा की रकम जमा होने की ही जानकारी आयकर विभाग को दी जाती थी लेकिन अब इसमें बदलाव किए गए हैं। इसके अलावा जमा की गई रकम, खाता धारक के टैक्स रिटर्न से अधिक पाई जाती है तो 200% का जुर्माना भी लगेगा।