अक्षय कि फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' के डायरेक्टर की जीभ कीटने वाले को मिलेगा एक करोड़ का इनाम

अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' का संतों ने विरोध करते हुए कहा कि जो भी फिल्म के डायरेक्टर की जीभ काटकर लाएगा उसे एक करोड़ रूपए का इनाम दिया जाएगा...

अक्षय कि फिल्म

कान्हा की नगरी मथुरा में अक्षय कुमार की फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' का विवाद गहरा गया है। फिल्म के निर्देशक ने बरसाना-नंदगांव के बीच वैवाहिक संबंध वाले दृश्य न दिखाने का वादा किया, लेकिन संतों का आक्रोश इससे थमा नहीं।संतों ने बरसाना में महापंचायत बुलाकर इस फिल्म के डायरेक्टर की जीभ काटकर लाने वाले को एक करोड़ का इनाम देने का एलान कर दिया। इसके साथ ही लोगों का आह्वन किया कि फिल्म के अभिनेता अक्षय कुमार कहीं भी मिलें, उन्हें पीटें।

बता दें कि बरसाना में संतों व स्थानीय लोगों की महापंचायत में संत समाज बेहद आक्रोशित दिखा। वृंदावन के चतुर संप्रदाय परिषद के श्रीमहंत फूलडोल बिहारीदास महाराज ने एलान किया कि जो भी कोई इस फिल्म के निर्देशक नारायण सिंह की जीभ काटकर लाएगा, उसे वह एक करोड़ एक लाख रुपये बतौर इनाम देंगे। साथ ही कहा कि हम बरसाना में फिल्म की शूटिंग नहीं होने देंगे।

वहीं फिल्म के डायरेक्टर नारायण सिंह ने रंगीली महल में प्रेसवार्ता कर कहा कि फिल्म को धार्मिक भावनाओं और पौराणिक महत्व को ध्यान में रखकर शूट किया जा रहा है। इसमें बरसाना और नंदगांव के बीच वैवाहिक संबंधों को नहीं फिल्माया गया है। उन्होंने एक पत्र भी संतों के लिए जारी किया। उन्होंने कहा कि बरसाना की बिटिया का रोल निभा रहीं अभिनेत्री भूमि पेंडनेकर फिल्म के जरिए स्वच्छता का चेहरा बन सकती हैं। उन्होंने कहा कि फिल्म में ऐसा कुछ भी नहीं फिल्माया जा रहा है, जिससे लोगों की धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचे।

साथ ही ये फिल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन से प्रेरित है। पत्रकार वार्ता के दौरान एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर संदीप शांडिल्य, लाइन प्रोड्यूसर प्रमोद सिंह, प्रेम श्रोत्रिया आदि भी मौजूद थे। नारायण सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस के थोड़ी ही देर बाद इस मुद्दे को उठाने वाले ब्रजाचार्य पीठ के प्रवक्ता घनश्याम राज भट्ट ने कहा था कि डायरेक्टर यह लिखकर दें कि फिल्म में बरसाना-नंदगांव के वैवाहिक रिश्ते से संबंधित सीन नहीं होंगे। साथ ही कहा कि उन्हें फिल्म के शीर्षक पर भी एतराज है। वह विरोध जारी रखेंगे, लेकिन शाम को महंत फूलडोल बिहारीदास ने यह एलान कर नई सनसनी फैला दी। मामले में फिल्म के निर्देशक नारायण सिंह का पक्ष जानने की कोशिश की गयी, लेकिन संपर्क नहीं हो सका।