नोटबंदी: कार्रवाई पर रोक लगाने के मामले में SC में शुक्रवार को होगी सुनवाई

नोटबंदी के खिलाफ कार्यवाही पर रोक लगवाने सुप्रीम कोर्ट पहुंचा केंद्र, शुक्रवार (कल) होगी सुनवाई ।

नोटबंदी: कार्रवाई पर रोक लगाने के मामले में SC में शुक्रवार को होगी सुनवाई

500 और 1000 रुपये के करेंसी नोटों के विमुद्रीकरण के 8 नवंबर के अपने फैसले के खिलाफ कार्रवाही पर रोक लगाने के लिए केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है। केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को छोड़कर कई और अदालतों में दायर मामलों की सुनवाई पर रोक लगाने की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट केन्द्र की याचिका पर शुक्रवार (कल) को सुनवाई करने के लिए साज़ी हो गया है।

न्यायमूर्ति एआर दवे और न्यायमूर्ति एएम खानविलकर की पीठ ने केन्द्र की तरफ से पेश एटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी की दलील पर सहमति जताई है कि शीर्ष अदालत को छोड़कर विभिन्न अदालतों में कार्रवाई से बहुत भ्रम पैदा होगा।

पीठ ने 15 नवंबर को विमुद्रीकरण की सरकार की अधिसूचना पर स्थगन लगाने से इनकार कर दिया। लेकिन, सरकार से कहा कि वह आमजन की तकलीफों को कम करने के कदम बताए। सुप्रीम कोर्ट में दायर चार जनहित याचिकाओं में से दो दिल्ली आधारित वकीलों विवेक नारायण शर्मा और संगम लाल पांडेय ने दायर की हैं जबकि एस. मुथुकुमार और आदिल अलवी ने एक एक याचिका दायर की है।

याचिकाकर्ताओं का आरोप है कि नोटबंदी के अचानक किए गए फैसले से अव्यवस्था पैदा हो गई है और आम लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। याचिकाकर्ताओं की मांग है कि वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग की अधिसूचना या तो निरस्त की जाए या कुछ समय के लिए टाली दी जाए।