नोटबंदी के बाद व्यवस्था संभालने के बजाए बेकार बैठे हैं जेटली और उनके साथी: सुब्रमण्यम स्वामी

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने नोटबंदी के बाद देश में फैली अव्यवस्था से लोगों को हुई परेशानी के लिए अरूण जेटली और आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास को जिम्मेदार ठहराया है।

नोटबंदी के बाद व्यवस्था संभालने के बजाए बेकार बैठे हैं जेटली और उनके साथी: सुब्रमण्यम स्वामी

अपने बयानों से विरोधियों और कई बार अपनी ही पार्टी के नेताओं को परेशानी में डालने वाले भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर से अपनी ही सरकार के लोगों पर निशाना साधा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सुब्रमण्यम स्वामी ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले का तो समर्थन किया है लेकिन उन्होंने इस फैसले के बाद देश में फैली अव्यवस्था से लोगों को हुई परेशानी के लिए अपनी ही सरकार की आलोचना भी की है।

स्वामी ने वित्त मंत्री अरूण जेटली और आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास पर आराेप लगाते हुए कहा कि 'देश में फैली अव्यवस्था को संभालने के बजाए बेकार बैठे है'। स्वामी ने मीडिया से कहा कि नोटबंदी के बाद फैली अव्यवस्था को देखकर ऐसा लग रहा है कि इस फैसले के लिए वित्त मंत्री ने कोई तैयरी ही नहीं की थी।

स्वामी ने आगे कहा कि उन्होंने अरविंद सुब्रमण्यम और शक्तिकांत दास को बाहर करने की बात की लेकिन अरूण जेटली उन्हीं के बचाव में आ गए। उन्होंने कहा कि इस फैसले से लोगों को हुई परेशानियों के लिए किसी को जिम्मेदारी लेनी होगी। बहरहाल स्वामी ने नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया लेकिन उन्हाेंने यह भी कहा कि लोगों की परेशानियां बढ़ी हैं और यह बहुत दर्दनाक स्थिति है।

बता दें कि नोटबंदी से देशभर में बने इन हालात पर सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार को बीते शुक्रवार को चेताया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर सरकार ने जल्द ही कुछ नहीं किया तो पैसे की कमी के चलते स्थिति बहुत बिगड़ सकती है जिससे देश में दंगे के हालात भी पैदा हो सकते हैं।