रेल हादसे के बाद से पिता को खोज रही रूबी, 10 दिन बाद थी शादी

इंदौर-पटना एक्सप्रेस रेल हादसे से 20 वर्षीय रूबी गुप्ता पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा है। जल्द ही दुल्हन बनने जा रही रूबी हादसे के बाद से अपने लापता पिता को खोज रही हैं।

रेल हादसे के बाद से पिता को खोज रही रूबी, 10 दिन बाद थी शादी

इंदौर-पटना एक्सप्रेस रेल हादसे से 20 वर्षीय रूबी गुप्ता पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा है। जल्द ही दुल्हन बनने जा रही रूबी हादसे के बाद से अपने लापता पिता को खोज रही हैं। रूबी के एक हाथ की हड्डी टूट गई है। रूबी की शादी एक दिसंबर को होनी है और इसके लिए अपने परिवार के साथ वह इंदौर से मऊ जा रही थी।

वहीं हादसे के दौरान रूबी के साथ उसकी बहनें 18 वर्षीय अर्चना, 16 वर्षीय खुशी, भाई अभिषेक तथा विशाल और पिता राम प्रसाद गुप्ता थे। उनके पिता हादसे के बाद से लापता हैं। इस परिवार के साथ उनके पारिवारिक दोस्त राम प्रमेश सिंह भी यात्रा कर रहे थे।

रूबी का कहना है कि मैंने हर जगह देखा लेकिन मुझे मेरे पिता नहीं मिले। कुछ लोगों ने मुझे उन्हें अस्पताल और मुर्दाघर में खोजने को कहा है लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा कि अब मैं क्या करूं। मैं नहीं जानती कि अब मेरी शादी निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक होगी या नहीं। अभी तो मैं पिता को ढूंढना चाहती हूं। रूबी अपने साथ शादी के कपड़े और गहने लेकर चली थीं, वह भी उन्हें नहीं मिल रहे है।

बता दें कि कानपुर देहात जिले में रविवार तड़के इंदौर-पटना एक्‍सप्रेस ट्रेन (19321) के 14 डिब्बों के पटरी से उतर गई। रेल के पटरी से उतरने के कारणों का अभी तक पता नहीं लग पाया है। इस हादसे में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

यूपी के लॉ एंड ऑर्डर के एडीजी दलजीत सिंह चौधरी ने बताया है कि अभी तक हादसे में 100 से ज्यादा की मौत हो चुकी है और बचाव कार्य जारी है। हादसा देहात जिले से करीब 100 किमी दूर पुखरायां में सुबह 3 बजे के बाद हुआ, तब यात्री सो रहे थे। हादसे में ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। सबसे ज्यादा मौते S1 और S2 में हुई हैं।