नोटबंदी पर स्थिति ठीक होने में लगेंगे 6 महीने

पुराने नोटों के सामने आने और सरकारी खजाने में जमा होने तथा इनकी जगह नए नोट लेने में करीब 6 महीने लग सकते हैं...

नोटबंदी पर स्थिति ठीक होने में लगेंगे 6 महीने



सरकार ने पुराने नोट बदलने की डेडलाइन 30 दिसंबर तय की है। पीएम के भरोसे के बाद लोगों को उम्मीद है कि 50 दिनों में पुराने नोट बदलकर नए नोट बाजार में आ जाएंगे. नोटबंदी के मसले पर सरकार हर दूसरे दिन नए ऐलान करती है. भ्रष्टाचारियों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार फूंक-फूंक कर कदम रख रही है. लेकिन पुराने नोटों के सामने आने और सरकारी खजाने में जमा होने तथा इनकी जगह नए नोट लेने में करीब 6 महीने लग सकते हैं.




नोटबंदी से 500 के कुल 15.78 अरब नोट और 1,000 के कुल 6.84 अरब नोट प्रचलन से बाहर हो गए हैं। अब अवैध घोषित किए जा चुके 1000 के नोट के कुल मूल्य की जगह इतने ही मूल्य के नए 2,000 के नोट छापने हों तो प्रेस में क्षमता के हिसाब से केवल आधे यानि 3.42 अरब नोट ही छप सकेंगे। इसी तरह मान लें कि 500 के नए नोट 10 नवंबर से छपने लगे हैं तो 500 के पुराने नोट से इसे बदलने में करीब छह महीने का समय लगेगा।

इसका अर्थ हुआ कि नए नोट पूरी क्षमता से अगले साल अप्रैल अंत में ही आ सकेंगे। यानि, साफ है कि यह अवधि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश से मांगी गई 50 दिन की अवधि से ज्यादा होने जा रही है।