बांग्लादेशी हिंदुओं ने ट्रंप से मांगी मदद, कहा- इस्लामी कट्टरपंथियों से है खतरा

अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से बांग्लादेशी हिंदुओं ने देश में गैर-मुसलमानों की बचाव के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की है।

बांग्लादेशी हिंदुओं ने ट्रंप से मांगी मदद, कहा- इस्लामी कट्टरपंथियों से है खतरा

अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से बांग्लादेशी हिंदुओं ने देश में गैर-मुसलमानों की बचाव के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बांग्लादेश में हिंदुओं समेत अन्य अल्पसंख्यकों पर होने वाले अत्याचार के विरोध में कई बांग्लादेशियों ने न्यूयॉर्क स्थित ट्रंप टावर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

वहीं प्रदर्शनकारियों ने ट्रंप से मांग की है कि उन्हें बांग्लादेश में गैर-मुसलमानों को बचाने के लिए दखल देना चाहिए क्योंकि उन्हें इस्लामी कट्टरपंथियों से खतरा है। पाकिस्तान से अलग होकर बांग्लादेश 1971 में स्वतंत्र देश बना था। इस समय बांग्लादेश में एक करोड़ से अधिक हिंदू रहते हैं।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हमने डोनाल्ड ट्रंप को वोट दिया है और अब हम उन्हें बताना चाहते हैं कि बांग्लादेश में हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यकों का लगातार शोषण हो रहा है। हम चाहते हैं कि राष्ट्रपति ट्रंप कार्यभार संभालने के बाद मानवता के नाते इस मसले पर कोई कड़ा कदम उठाएं।

जाने-माने अर्थशास्त्री और ढाका विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. अब्दुल बरकत ने बांग्लादेश में हिंदुओं के पलायन पर टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर पलायन की मौजूदा दर जारी रहती है तो बांग्लादेश में अब से 30 साल बाद कोई हिंदू नहीं बचेगा क्योंकि हर दिन देश से अल्पसंख्यक समुदाय के औसतन 632 लोग मुस्लिम बहुल देश को छोड़कर जा रहे हैं।

Story by