यूपी: बेरहम पुलिस ने पूछताछ के नाम पर युवकों पर किया थर्ड डिग्री का इस्तेमाल

यूपी के बांदा में पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया है। जहां लूट के मामले में पकड़े गए पांच युवकों को बर्बरता से पीटने के आरोप थाने के एसओ समेत सात पुलिस कर्मियों पर लगे है।

यूपी: बेरहम पुलिस ने पूछताछ के नाम पर युवकों पर किया थर्ड डिग्री का इस्तेमाल

यूपी के बांदा में पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया है। जहां लूट के मामले में पकड़े गए पांच युवकों को बर्बरता से पीटने के आरोप थाने के एसओ समेत सात पुलिस कर्मियों पर लगे है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसपी ने एसओ समेत सभी 7 पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया है।

बता दें कि जसपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम सिकौहुला मोड़ पर 21 नवंबर की रात कानपुर की ओर से आ रही एक डीसीएम और तीन ट्रकों को लूट लिया गया था। उनके ड्राइवरों को बाइक सवार आधा दर्जन लोगों ने तमंचों के बल पर लूटा था।

वहीं घटना के बाद पीड़ित ड्राइवरों ने लूटपाट का मामला दर्ज कराया था। इसी घटना को लेकर पुलिस ने शक के आधार पर पुलिस ने पांच युवकों शाहरूख, करीम खां, शोकिया खां, सलमान खां और रासिक खां को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूरे मामले को लेकर युवकों के परिजन और गांव के लोग सपा जिलाध्यक्ष शमीम बांदवी की अगुवाई में एसपी से जाकर मिले। वहां शिकायत पत्र देकर उन्होंने बताया कि सभी युवक उस रात सिकौहुला गांव शादी में गए थे.

पुलिस के द्वारा शक के आधार पर बेरहमी से पीटे गए पांचों युवक बुरी तरह घायल हो गए हैं। इतना ही नहीं थाने में पीटने के साथ उनके रुपए और मोबाइल भी पुलिस वालों ने छीन लिए हैं। वहीं मामले को गंभारता से लेते हुए एसपी श्रीपति मिश्र ने सस्पेंड की कार्यवाही करते हुए सभी आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया।

Story by