आज संसद में नोटबंदी पर फिर घिरेगी सरकार, सभी विपक्षी दल एक साथ

संसद में सरकार को घेरने के लिए विपक्ष ने एकजुट होकर रणनीति बना ली है। शीतसत्र की सभी कार्रवाई में नोटबंदी ही अहम मुद्दा रहा है...

आज संसद में नोटबंदी पर फिर घिरेगी सरकार, सभी विपक्षी दल एक साथ

नोटबंदी पर विपक्ष एकजुट होकर सरकार को संसद में घेरने के लिए पूरी तरह तैयार है। अब तक शीतसत्र को लेकर जितनी कार्रवाई हो चुकी है वो सब नोटबंदी के मुद्दे को लेकर हंगामेदार रही है। आज संसद की कार्रवाई से पहले विपक्षी दलों की एक बैठक होनी है, जिसमें सभी विपक्षी दल सरकार को घेरने की रणनीति पर चर्चा करेंगे।

बता दें कि विपक्षी दल नोटबंदी की जानकारी लीक करने के मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग भी करेंगे। विपक्षी दलों का नेतृत्व कांग्रेस कर रही है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद और आनंद शर्मा को दूसरी विपक्षी पार्टियों से तालमेल बिठाने की ज़िम्मेदारी दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, टीएमसी, जेडीयू, बीएसपी, एसपी, एनसीपी और लेफ्ट पार्टियां इस मुद्दे पर एकजुट हैं। इस बीच कांग्रेस ने अपने सासंदों को व्हिप जारी कर संसद में मौजूद रहने को कहा है। विपक्षी दलों की बैठक के बाद कांग्रेस की भी बैठक होनी है, जिसकी अध्यक्षता कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी करेंगी।

वहीं नोटबंदी के मसले पर विपक्ष की एकजुटता के मद्देनज़र बीजेपी ने अपने राज्यसभा सांसदों को व्हिप जारी कर अगले तीन दिन तक सदन में मौजूद रहने को कहा है। राज्य सभा में बीजेपी बहुमत में नहीं है। ऐसे में किसी तरह की वोटिंग की सूरत में पार्टी सांसदों की ज़्यादा से ज़्यादा मौजूद होने के मद्देनज़र ये व्हिप जारी किया गया है।

साथ ही इससे पहले राज्यसभा में पिछले दो दिनों की कार्रवाई के दौरान सदन में जमकर हंगामा हुआ है। सदन में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद के नोटबंदी के दौरान मारे गए लोगों की तुलना उरी अटैक में शहीद जवानों से किए जाने पर दोनों पक्षों में काफ़ी झड़प हुई। इस बयान के बाद सरकार के सीनियर लीडर्स ने विपक्ष से इस बयान के लिए माफी मांगने की बात कहते हुए इस बयान को शहीदों का अपमान बताया।

गौरतलब है कि विपक्ष नोटबंदी के मसले पर बहस के दौरान सदन में पीएम के मौजूद होने की लगातार मांग कर रहा है। वहीं बीजेपी के सीनियर नेताओं ने पार्टी के सांसदों से नोटबंदी से आम जनता को होने वाले फायदों की जानकारी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की अपील की है।