नोटबंदी का निर्णय बिना सोचा समझा फैसला: कोलकाता हाईकोर्ट

कोलकाता हाईकोर्ट ने सरकार के नोटबंदी के फैसले पर सख्त टिप्पणी की है और सरकार के इस निर्णय को बिना सोचा समझा फैसला करार दिया है।

नोटबंदी का निर्णय बिना सोचा समझा फैसला: कोलकाता हाईकोर्ट

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर कोलकाता हाईकोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है और सरकार के इस निर्णय को बिना सोचा समझा फैसला करार दिया है। मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक कोर्ट ने कहा कि केंद्र ने सही तरीके से सोच विचार कर ये फैसला नहीं लिया है।

वहीं पुराने नोट बदलने को लेकर सरकार की तरफ हर रोज़ बदले जा रहे नियम पर भी कोर्ट ने फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा है कि इससे साबित होता है कि सरकार ने बिना होमवर्क किए है ये बड़ा फैसला लिया है।

कोलकाता हाईकोर्ट ने जनता को आसानी से पैसा मुहैया नहीं कराने के लिए बैंक कर्मचारियों की भी आलोचना की है। हाईकोर्ट ने कहा कि मैं सरकार के फैसले को बदल नहीं सकता, लेकिन बैंक कर्मचारियों की प्रतिबद्धता होनी चाहिए।

नोटबंदी पर याचिका की सुनवाई करते हुए बेंच की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस ने कहा कि लोग पैसा निकाले के लिए लंबी-लंबी कतारों में खड़े हैं और अस्पताल में इलाज नहीं मिल रहा है। इस फैसले ने सब की ज़िंदगी बदलकर रख दी है, जो सही नहीं है।

जस्टिस ने आगे कहा कि उनका बेटा बीमार है और उसे डेंगू है, लेकिन अस्पताल पुराने नोट नहीं ले रहा है। हालांकि कोर्ट ने इस याचिका पर कोई फैसला नहीं सुनाया है। इस याचिका पर अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।

Story by