नोटबंदी के बाद बीएसपी के खाते में 104 करोड़ और मायावती के भाई के खाते में 1.43 करोड़ हुए जमा

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी सुप्रामो मायावती की मुश्किलें बढ़ सकती है। प्रवर्तन निदेशालय को दिल्ली के करोल बाग में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में मायावती के भाई आनंद के अकाउंट में 1 करोड़ 43 लाख रुपये जमा होने का पता चला है। इसके साथ ही प्रवर्तन निदेशालय ने बहुजन समाज पार्टी को 104 करोड़ 36 लाख रुपये चंदा देने का भी खुलासा किया है।

नोटबंदी के बाद बीएसपी के खाते में 104 करोड़ और मायावती के भाई के खाते में 1.43 करोड़ हुए जमा

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी सुप्रामो मायावती की मुश्किलें बढ़ सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय को दिल्ली के करोल बाग में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में मायावती के भाई आनंद के अकाउंट में 1 करोड़ 43 लाख रुपये जमा होने का पता चला है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय ने बहुजन समाज पार्टी को 104 करोड़ 36 लाख रुपये चंदा देने का भी खुलासा किया है। ये पैसे 45 दिन में कुल आठ बार में जमा कराए गए हैं। इस बारे में जब बीएसपी से प्रतिक्रिया जाननी चाही तो किसी ने भी कुछ नहीं बोला। प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने बीएसपी के खाते में पैसे जमा कराए जाने की जानकारी मांगी और पाया कि 104 करोड़ रुपये की राशि एक हजार के पुराने नोटों में जमा कराई गई है। जबकि तीन करोड़ रुपये की राशि 500 रुपये के पुराने नोटों में जमा कराई गई। अधिकारियों ने कहा कि वे यह जानकारी पाकर हैरान रह गए कि हर दूसरे दिन 15-17 करोड़ रुपये की राशि जमा कराई गई।

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने बताया कि बीएसपी के खाते में 102 करोड़ 1000 के नोट में जबकि 3 करोड़ की राशि 500 के पुराने नोट में जमा कराए गए थे। नोटबंदी के बाद हर दिन इन खातों में 15 से 17 करोड़ जमा कराए गए। जांच एजेंसी को जांच में एक और संदिग्ध अकाउंट मिला जो कि मायावती के भाई आनंद का पाया गया। इनके खाते में भी 1.43 करोड़ मिले जिनमें 18.98 लाख रुपये नोटबंदी के बाद पुराने नोट के तौर पर जमा कराए गए।

इस खुलासे के बाद एजेंसी ने बैंक से इन दो खातों की पूरी जानकारी मांगी है। ये मान जा रहा है कि ईडी इसकी पूरी जांच के लिए इनकम टैक्स विभाग को लिखेगा, जिसके पास पार्टी के खातों की जांच के अधिकार हैं। एजेंसी ने बैंक से सीसीटीवी फुटेज और केवाईसी दस्तावेज भी मांगे हैं। इसके अलावा ईडी बहुत जल्द आनंद को भी इतनी राशि जमा कराए जाने के लिए नोटिस जारी करेगी।