केरल: मेडिकल कॉलेज में रैगिंग, 21 छात्र सस्पेंड

केरल के एक मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला सामने आया है, जिसमें लिप्त 21 छात्रों को सस्पेंड कर दिया गया है।

केरल: मेडिकल कॉलेज में रैगिंग, 21 छात्र सस्पेंड

केरल के एक मेडिकल कॉलेज से 21 छात्रों को सस्पेंड कर दिया गया है। उन सभी पर रैगिंग करने का आरोप है।कबरों की मानें तो फ्रेशर्स से टॉयलेट साफ करवाए गए थे और गंदा पानी भी उन्हें जबरन पिलाया गया था। यह कार्रवाई 40 स्टूडेंट्स के शिकायत के बाद की गई। कॉलेज प्रशासन के हरकत में आने पर कॉलेज की आंतरिक कमेटी ने जांच शुरू की थी। वह अपनी रिपोर्ट जल्द ही एंटी रैगिंग कमेटी को सौंप देंगे।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक, जिस जगह पर फ्रेशर रहते हैं वहां की वार्डन को इस बात का ख्याल रखना होता है कि स्टूडेंट्स को किसी तरह की परेशानी ना हो। कॉलेजेस ऐर हॉस्टल्स में रैगिंग जैसी घटना को अंजाम ना दिया जा सके इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने ये निर्देश जारी किए थे।

बता दें, केरल में इससे पहले भी रैगिंग का मामला सामने आया था। तब कोटायम के एक सरकारी पोलिटेक्निक कॉलेज में पढ़ने वाले सात छात्रों पर फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स से रैगिंग करने का आरोप लगा था। सात छात्रों में से पांच ने 19 दिसंबर को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था। इस मामले में प्रथम वर्ष के एक छात्र का गुर्दा क्षतिग्रस्त हो गया था। दो छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिनमें से एक त्रिशूर जिले के इरिन्जालाकुडा का है और दूसरा एरनाकुलम जिले के चेरानाल्लूर का है । दोनों ही छात्रों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।