आयकर विभाग ने AXIS बैंक के 50 खाते किए सीज

नोएडा के सेक्टर-18 व सेक्टर-51 में एक्सिस बैंक की शाखा में 50 खातों में करीब ढ़ाई करोड़ रुपए मिलने के बाद आयकर विभाग ने इन्हें सीज कर दिया।

आयकर विभाग ने AXIS बैंक के 50 खाते किए सीज

यूपी के नोएडा के सेक्टर-18 व सेक्टर-51 में एक्सिस बैंक की शाखा में 50 खातों में करीब ढ़ाई करोड़ रुपए मिलने के बाद आयकर विभाग ने इन्हें सीज कर दिया है। बाकी रुपए पहले ही निकाले जा चुके हैं। आयकर द्वारा बाकी खातों की भी जांच की जा रही है। एक्सिस बैंक के संदिग्ध 125 खातों में करीब ढ़ाई सौ करोड़ रुपए का लेनदेन हुआ है। आयकर की अब तक की जांच में आया है कि एक्सिस बैंक में दो लोगों द्वारा बड़े स्तर पर लाभ पहुंचाने के लिए फर्जीवाड़ा किया गया है।

आयकर की जांच टीम को एक्सिस बैंक में एक के बाद एक संदिग्ध खाते मिल रहे हैं। शुुरुआती जांच में सेक्टर-51 की एक्सिस बैंक की शाखा में तीन संदिग्ध खातों की सूचना मिली थी। इसके बाद ये संख्या 20, फिर 32 हो गई। इसके बाद एक्सिस बैंक की सेक्टर-18 शाखा में भी 23 संदिग्ध खाते मिले थे। अब दोनों शाखाओं में संदिग्ध खातों की संख्या 125 तक पहुंच चुकी है। लगातार बढ़ रही संदिग्ध खातों की संख्या से आयकर के लिए भी जांच करना चुनौती बनती जा रही है।

आयकर अधिकारियों ने दावा किया है कि उनके हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। अब तक की जांच में यह सामने आया है कि सौम्या ट्रेडर्स और एक अन्य को लाभ पहुंचाने के लिए संदिग्ध खातों का जाल फैलाया गया है, जो कि काफी समय से एक खाते से दूसरे खाते में रुपए लेनदेन के कार्य में लगे हुए है। इस पूरे फर्जीवाड़े में दो लोगों से आयकर की टीम पूछताछ कर रही है। आयकर अधिकारियों का मानना है कि चाटर्ड एकाउंटेंट के इशारे पर ही इस पूरे फर्जीवाड़े को अंजाम दिया जा रहा है। इससे वह आयकर के दायरे से बच सके। मामले में दो मुख्य लोगों के अलावा बाकि लोगों को भी नहीं छोड़ा जाएगा।

इनते बड़े स्तर पर मिले संदिग्ध खातों से माना जा रहा है कि कुछ लोग कालेधन को सफेद करने के लिए इस तरह के खातों खोलकर फर्जीवाड़ा कर रहे हैं। इसके लिए बकायदा फीस भी ली जाती है। इस कार्य में पूरा गैंग लगा होता है। यह गैंग काफी समय से सक्रिय है। नोटबंदी होने पर इसमें काफी बड़ी मात्रा में इन खातों में लेनदेन होने पर जांच के दायरे में आ गए। मामले में एक के बाद एक परत-परत खुलती जा रही है।