'आधार' से होगा पेमेंट, जल्‍द ही लॉन्च होगा 'ऐप'

कैशलेस लेन-देन की व्यवस्था के लिए यूआईडीएआई जल्द ही आधार कार्ड के जरिए पेमेंट करने वाला एईपीएस एंड्रॉएड ऐप लॉन्च करेगी ।

कैशलेस लेन-देन की व्यवस्था पर जोर देने के एक बड़े प्रयास के तहत यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया जल्द ही आधार कार्ड के जरिए पेमेंट करने वाला इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) एंड्रॉएड ऐप लाएगी।

भविष्य में किसी भी तरह की शॉपिंग या ट्रांजेक्शंस के लिए कस्टमर को अपने साथ क्रेडिट और डेबिट कार्ड ले जाने की जरूरत नहीं होगी। उसे सिर्फ अपना आधार कार्ड नंबर बताना होगा और अथॉन्टिकेशन के साथ ही ट्रांजेक्शन हो जाएगा।

यह ऐप सभी बैंकों में उपलब्ध रहेगा। बैंक अपने आस पास के व्यापारियों को इसका इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहन देंगे। मुख्यमंत्रियों की समिति ने डिजिटल भुगतान के लिए जो फैसले लिए उनमें से एक यह भी है।

टीसीएस के साथ मिलकर विकसित किए गए इस ऐप को व्यवसायी डाउनलोड कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए उन्हें एक स्मार्टफोन और फिंगरप्रिंट की जरूरत होगी। ऐप के जरिए बगैर किसी कार्ड या पिन के जरिए लेन-देन किया जा सकेगा।

इस समिति ने केंद्रीय वित्त मंत्रालय को शुक्रवार को अपनी एक रिपोर्ट पेश की। जिसमें यूएसएसडी या *99# और यूजर फ्रेंडली वर्जन जारी करने की संस्तुति की है। इनका इस्तेमाल मोबाइल फोन से बगैर नकदी के भुगतान करने के लिए किया जाएगा।

सरकारी बयान के अनुसार, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू की अध्यक्षता वाली इस समिति की दूसरी बैठक शुक्रवार को नीति आयोग में हुई थी। यह बैठक नायडू, नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया की भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल, इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों, यूआईडीएआई और सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों के प्रमुख बैंकों के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशकों की गुरुवार को मुंबई में हुई बैठक में विचार-विमर्श के बाद हुई।