5 साल बाद नहीं रहेंगे 2000 के नए नाेट: आरएसएस

आरएसएस से जुड़े एक आैर संगठन स्वदेशी जागरण मंच के विचारक एस गुरुमूर्ति ने कहा कि आने वाले 5 सालाें बाद 2000 के नए नाेट बंद कर दिए जाएंगे...

5 साल बाद नहीं रहेंगे 2000 के नए नाेट: आरएसएस

8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 आैर 1000 के नाेटाें पर बैन लगा दिया था और तब से लेकर अब तक देश में कैश को लेकर स्थिति सामान्‍य नहीं हो पायी है। बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की कतारें अब भी कम नहीं हुई हैं। अब तक 84 लाेगाे की माैत हाे चुकि है। वहीं पर विपक्ष सरकार काे निशाना बना रहा है।

जहां पर हर एक व्यक्ति काे बैंक आैर एटीएम से कैश निकालने में परेशानी हो रही है, वहीं आरबीआई का कहना है कि देशभर के बैंकों और एटीएम में प्रयाप्‍त नोट उपलब्‍ध हैं और तेजी के साथ नये नोटों की छपाई भी की जा रही है। इस समय देश के ज्यादातर एटीएम में 2000 के नोट आसानी से नजर आ जाते हैं, लेकिन 500 के नोट अभी तक मांग के अनुसार उपलब्‍ध नहीं हो पाये हैं। कालाधन और भ्रष्‍टाचार पर काबू पाने के लिए सरकार अब नोटबंदी के बाद देश को कैशलेश व्‍यवस्‍था की ओर ले जाने की तैयारी में है।

इस बीच आपको परेशान करने वाली एक खबर सामने आयी है। खबर है अभी एटीएम और बैंकों में जो नोट आसानी से आपको मिल रहें हैं, वो 2000 के नोट अगले पांच साल में बंद हो जाएंगे। मीडिया रिपाेर्टस के मुताबिक ये बात आरएसएस से जुड़े एक आैर संगठन स्वदेशी जागरण मंच के विचारक एस गुरुमूर्ति ने एक बयान में कहा है।

गुरुमूर्ति ने मीडिया काे बताया कि 2000 रुपये के नये नोट अगले पांच साल में बंद हो जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने नोटबंदी से हो रही परेशानी से निबटने के लिए 2000 के नये नोट प्रचलन में लायी थी, लेकिन अगले पांच साल में ये नोट भी बंद हो जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि, आने वाले दिनों में सबसे बड़ी करेंसी 500 के नोट होगें।