नोटबंदी के बाद देश का राजस्व बढ़ा: जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था को कोई नुकसान नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश का राजस्व बढ़ा है।

नोटबंदी के बाद देश का राजस्व बढ़ा: जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था को कोई नुकसान नहीं हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश का राजस्व बढ़ा है। कई क्षेत्रों में कारोबार भी बढ़ा है और खेती को भी कोई नुकसान नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि नए नोट जारी करने का काम काफी आगे बढ़ चुका है, कहीं से अशांति की कोई खबर नहीं है। आरबीआई के पास अधिक मात्रा में नोट उपलब्ध हैं, मुद्रा का बड़ा हिस्सा बदला जा चुका है और 500 रुपये के और नए नोट जारी किए जा रहे हैं।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक जेटली ने कहा कि बैंकों की कर्ज देने की क्षमता बढ़ी है। 19 दिसंबर तक प्रत्यक्ष कर संग्रह में 14.4 प्रतिशत, अप्रत्यक्ष कर संग्रहण में 26.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

जेटली ने कहा कि नोटबंदी से किसानों को फायदा हुआ है। रबी की बुवाई पिछले साल से 6.3 प्रतिशत अधिक हुई है। इसी के साथ ही जीवन बीमा क्षेत्र का कारोबार बढ़ा है और पर्यटन उद्योग-म्युचुअल फंड योजना निवेश में भी वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा कि भले ही आलोचक तमाम बाते कह रहे हों, लेकिन नोटबंदी के बाद भी इनडायरेक्ट टैक्स के कलेक्शन में बड़ा इजाफा देखने को मिला है। जेटली ने नोटों की उपलब्धता को लेकर कहा कि आरबीआई के पास बड़ी मात्रा में नई करंसी मौजूद है। इसके अलावा 500 के नए नोट भी तेजी से सर्कुलेशन में आ रहे हैं।