जयललिता के निधन के बाद भी उनकी निजी संपत्ति कोर्ट में

तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता के निधन के बाद उन पर चल रहा आय से अधिक संपत्ति का मामला भी खत्म हो गया है। मगर, उनकी कई निजी संपत्ति अभी भी कर्नाटक कोर्ट में जब्त हैं। इनमें जयललिता की 10,500 साड़ियां, 750 चप्पलें और 500 शराब के गिलास शामिल हैं।

जयललिता के निधन के बाद भी उनकी निजी संपत्ति कोर्ट में

तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता के निधन के बाद उन पर चल रहा आय से अधिक संपत्ति का मामला भी खत्म हो गया है। मगर, उनकी कई निजी संपत्ति अभी भी कर्नाटक कोर्ट में जब्त हैं। इनमें जयललिता की 10,500 साड़ियां, 750 चप्पलें और 500 शराब के गिलास शामिल हैं।

मालूम हो,  विशेष कोर्ट ने उन्हें साल 2014 में दोषी माना था। जबकि कर्नाटक हाई कोर्ट ने साल 2015 में विशेष अदालत के फैसले को बदल दिया था। इसके बाद कर्नाटक सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी और तब से यह फैसला विचाराधीन है।

दरअसल अब  जयललिता के देहांत के बाद बड़ा सवाल ये खड़ा हो गया कि कर्नाटक कोर्ट में जब्त इन चीजों का क्या होगा। एआईएडीएमके के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट जल्द ही फैसले देता हुए इन चीजों को पार्टी को सौंप देगा। पार्टी इन चीजों का इस्तेमाल अम्मा की याद में बनने वाले म्यूजियम में करेगी।

वहीं इस मामले पर कर्नाटक के एडिशनल एडवोकेट जनरल एएस पोनप्पा ने कहा कि यदि कोर्ट जयललिता को दोषी पाता है, तो उनकी सारी संपत्ति कोर्ट में जब्त हो जाएगी और उन्हें तमिलनाडु सरकार को सौंप दिया जाएगा। वहीं, यदि कोर्ट उन्हें दोषमुक्त पाती है, तो अदालत अम्मा के उत्ताधिकारी को सामान सौंप देगी।

गौरतलब हो कि 1996 में आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा जब्त की गई संपत्ति की सुरक्षा कर्नाटक पुलिस कर रही है, जिसे दो जगहों पर रखा गया है। कोषागार में जब्त सामग्री में 21.28 किलो सोने के आभूषण हैं, जिनकी कीमत करीब 3.5 करोड़ रुपए है। इसके अलावा 1,250 किलो चांदी के सामान भी हैं, जिनकी कीमत 3.12 करोड़ रुपए बताई जा रही है।