केंद्राय मंत्री को खत के जरिए एयर इंडिया के पायलेट ने दिया करारा जवाब

एयर इंडिया के एक पायलट ने नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू खत लिखकर एक बड़ा ही करारा जवाब दिया है। पायलेट ने गजपति को उनकी उस बात का जवाब दिया था...

केंद्राय मंत्री को खत के जरिए एयर इंडिया के पायलेट ने दिया करारा जवाब

एयर इंडिया के एक पायलट ने नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू खत लिखकर एक बड़ा ही करारा जवाब दिया है। पायलेट ने गजपति को उनकी उस बात का जवाब दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि एयर इंडिया के कर्मचारियों में कमिटमेंट की कमी है जिसकी वजह से एयर इंडिया प्राइवेट एयरलाइंस से पीछ हो गई है। इसी बात का जवाब देते हुए खत में लिखा कि पायलट शुभाशीष मजुमदार ने सांसदों के आचरण और कमिटमेंट पर ही सवाल खड़ा कर दिया। खत में उन्होंने संसद सत्र के असफल होने पर सवाल उठा दिए।


बता दें कि शुभाशीष ने लिखा कि एक प्रतिबद्ध कर्मचारी, जिम्मेदार टैक्सपेयर और देशभक्त नागरिक होने के नाते मैं आपको बता दूं कि शीतकालीन सत्र के दौरान सांसदों के आचरण के कारण दोनों सदनों की कार्यवाही पूरी तरह विफल रही। लोकसभा में कोई काम इसलिए नहीं हो पाया क्योंकि आपके सहकर्मियों ने नारे लगाए, पोस्टर दिखाए और जबरदस्त हंगामा भी किया।


वहीं शुभाशीष ने आगे लिखा कि हमें दुख है कि बाकी देशों के नेताओं की तुलना करें तो हमारे देश के नेता प्रतिबद्धता में काफी पीछे हैं, इसलिए भारत के नागरिक होने के नाते हमे अपेक्षा है कि हमारे नेता आत्मनिरीक्षण करेंगे और मिसाल भी देंगे। शुभाशीष ने कहा कि अगर एयर इंडिया के पायलट आपके सांसदों और नेताओं की तरह व्यवहार करते तो उन्हें सरकार बर्खास्त नहीं भी करती लेकिन फटकार जरूर लगाती।

गौरतलब है कि इस खत का शीर्षक, 'प्रेरणा की कमी है, प्रतिबद्धता की नहीं' दिया गया। ये खत लिखने वाले पायलेट शुभाशीष एयर इंडिया की लॉन्ग रेंज बोइंग 777 उड़ाते हैं। शुभाशीष के खत वायरल होने के बाद सवाल खड़े होने लगे हैं। इस पर टिप्पणी से बचते हुए एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि खत में लिखी गई बाते पायलट की व्यक्तिगत राय है और एयरलाइन्स इस पर कुछ नहीं कहना चाहती।