दिलचस्प हुआ सपा का 'दंगल', अखिलेश ने दिखाए सख्त तेवर

समर्थकों के टिकट कटने से नाराज अखिलेश झुकने को तैयार नहीं हैं। अब खबर आ रही है कि अखिलेश 167 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर सकते हैं।

दिलचस्प हुआ सपा  का

सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने सीएम अखिलेश यादव के जिन करीबी विधायकों का टिकट काट दिया था उनसे अखिलेश ने चुनाव की तैयारी करने को कहा है. अखिलेश यादव ने विधायकों से कहा कि आप तैयारी करो, आप चुनाव लड़ेंगे, मैं खुद नेताजी से बात कर रहा हूं.

समर्थकों के टिकट कटने से नाराज अखिलेश झुकने को तैयार नहीं हैं. अब खबर आ रही है कि अखिलेश 167 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर सकते हैं. कल मुलायम और शिवपाल ने 325 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की थी, जिसमें अखिलेश के 79 समर्थकों के नाम नहीं हैं. अखिलेश सरकार के तीन मंत्रियों रामगोविंद चौधरी, पवन पांडे और अरविंद सिंह गोप के टिकट भी कटे. आज मुलायम-शिवपाल के साथ बैठक में अखिलेश ने अपने फोन से तीनों से मुलायम सिंह से बात कराई.

यूपी में चुनाव नजदीक हैं और इससे पहले मुलायम परिवार का झगड़ा एक बार फिर बढ़ गया है. मुलायम की ओर से उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होते ही अखिलेश ने भी अपनी ओर से जारी की गई लिस्ट सार्वजनिक कर दी है. पिता-पुत्र की लिस्ट में 79 नामों का फर्क है. वैसे जाति के हिसाब से ज्यादा फर्क नहीं है, क्योंकि अखलिश ने जिस जाति के नेता को टिकट दिया था ज्यादातर केस में मुलायम ने उसी जाति के नेता को टिकट दिया है लेकिन नाम बदल दिया है.

वहीं, टिकट बंटवारे में अखिलेश को किनारे किया गया तो कल रात होते होते अखिलेश ने आवास विकास परिषद की उपाध्यक्ष सुरभि शुक्ला को हटा दिया. सुरभि के पति शिवपाल यादव के करीबी बताए जाते हैं.

कल 325 उम्मीदवारों का एलान किया हुआ था

इससे पहले कल चाचा शिवपाल यादव ने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव के साथ मिलकर 325 उम्मीदवारों का एलान कर दिया. अखिलेश के कई करीबियों के टिकट काट दिए.

अखिलेश के करीबियों का टिकट काटा गया

अरविंद गोप, पवन पांडे, अभिषेक मिश्र, रामगोविंद चौधरी, ये वो नाम हैं जो अखिलेश यादव के सबसे करीबी माने जाते हैं, लेकिन मुलायम सिंह ने इनके साथ-साथ अखिलेश खेमे के कई और नेताओं का टिकट काट दिया है.

कब होगा चुनाव ?
यूपी समेत 5 राज्यों में चुनाव आयोग अब कभी अब कभी भी चुनाव का ऐलान कर सकता है. सूत्रों के मुताबिक –

– यूपी में 6 या 7 चरणों में मतदान कराने की योजना है.
– जबकि बाकी चार राज्यों में एक चरण में ही मतदान होगा.
– मतदान की ज्यादातर तारीखें फ़रवरी में होगी.
– नतीजे मार्च में पहले या दूसरे हफ़्ते में आ सकते हैं
उत्तर प्रदेश के अलावा उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने हैं।