नाबालिग के साथ दुष्कर्म की कोशिश, विरोध करने पर पीड़िता को आग के हवाले किया

10 साल की मासूम से कथित तौर पर दुष्कर्म की कोशिश, विरोध करने पर आरोपियों ने पीड़िता को आग के हवाले किया। 60 फीसदी तक आग में झुलसी पीड़िता, पुलिस ने 7 लोगों को हिरासत में लिया, दो के खिलाफ मामला दर्ज ।

नाबालिग के साथ दुष्कर्म की कोशिश, विरोध करने पर पीड़िता को आग के हवाले किया

झारखंड में दो अज्ञात लोगों द्वारा 10 साल की एक बच्ची को आग लगाकर कथित तौर पर उसे गड्ढे में डालने का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक, बच्ची ने कथित दुष्कर्म की कोशिश का विरोध किया था। बच्ची को जमशेदपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बच्ची 60 फीसद तक आग में झुलस चुकी है।

पुलिस ने पीड़िता के बयानों के मुताबिक मामला दर्ज कर पूछताछ के लिए सात लोगों को हिरासत में लिया है और दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पश्चिम बंगाल के बांकुरा के रहने वाले मजदूर कांद्रा इलाके में किराए के मकान में पिछले दो साल से अपने परिवार के साथ रह रहा था। पीड़िता के बयान के मुताबिक, बीते बुधवार को सुबह दो लोगों ने उसके और उसकी मां के साथ छेड़छाड़ की थी। उसके बाद उसे घर से क्रेशर यूनिट के पास ले गए, जो कि उनके घर के पास ही है। जहां कथित तौर पर उनसे दुष्कर्म करने की कोशिश की। जब पीड़िता ने इसका विरोध किया तो संदिग्धों ने कैरोसिन डालाकर उसे आगे लगा दी। इसके बाद उसे एक सूखे गड्ढे में डाल दिया और वहां से भाग गए। जब पीड़िता चिल्लाई तो स्थानीय लोगों ने उन्हें बाहर निकाला। उसके बाद पीड़िता को अस्पताल पहुंचाया गया और पुलिस को सूचना दी गई।

पुलिस को घटना स्थल से एक डिब्बा, माचिस और लड़की के कुछ जले हुए कपड़े मिले हैं। लड़की पास के ही स्कूल में क्लास छह में पढ़ती है।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, लड़की का कहना है कि वह आरोपियों की पहचान कर लेगी, लेकिन उन्हें नाम से नहीं जानती। हम लोगों ने सात लोगों को हिरासत में लिया है। शुरुआती जांच में खुलासा हुआ है कि लड़की मां और पिता में अनबन रहती है। पीड़िता के दो अन्य भाई बहन भी हैं, लेकिन वे अभी गायब हैं। अभी मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि किसी ने इस घटना को नहीं देखा। हालांकि, घटना दिन के वक्त ही हुई थी। पति और पत्नी में हिंसक विवाद हुआ था। इसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई थी। हम मामले की जांच कर रहे हैं।