अम्मा के जीवन पर लिखी किताब: शाेबन बाबू से हुई थी शादी

अम्मा के जीवनी पर एक किताब जिसका नाम है Amma: Jayalalithaa’s Journey from Movie Star to Political Queen इस किताब का दावा है कि जयललिता ने शाेबन बाबू से शादी की थीं।

अम्मा के जीवन पर लिखी किताब: शाेबन बाबू से हुई थी शादी

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और दक्षिण भारत की सबसे शक्तिशाली राजनेता जे जयललिता का बीते कल रात निधन हो गया। उनके निधन के साथ ही राजनीति का  एक युग का अंत हो गया।  जयललिता अपने राजनीतिक कैरियर में ‘अम्मा’ के नाम से पहचानी जाने वाली जयललिता का जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा और उन्होंने हर मोरचे पर अपनी दृढ़इच्छाशक्ति से विजय प्राप्त की। एक सफल सिने स्टार के बाद उन्होंने एक शक्तिशाली राजनेता के रूप में अपनी पहचान बनायी और संभवत: दक्षिण में एमजीआर के बाद उनके जितना शक्तिशाली कोई राजनेता नहीं हुआ। उनके जीवन को समेटती एक किताब प्रकाशित हुई है-जिसका नाम है-  Amma: Jayalalithaa’s Journey from Movie Star to Political Queen। हालांकि इसे अधिकारिक बायोग्राफी नहीं माना जाता है, बावजूद इसके वासंती की इस किताब में उनके जीवन के कई पहलुओं को दर्शाया गया है।

अभिनेत्री होने के बावजूद फिल्मी दुनिया से थी नफरत
इस किताब में यह दावा  किया गया है कि जयललिता भले ही एक सफल सिने स्टार थीं, लेकिन उन्हें फिल्मी दुनिया से नफरत थी। उनका कहना था कि इस दुनिया के पुरूष उन्हें बुरी नजर से देखते हैं और उनकी मां जबरन उन्हें उनसे बात करने के लिए भेजती थीं।

आजीवन मां के प्रेम के लिए तरसती रहीं
जयललिता जब दो वर्ष की थीं, उनके पिता का देहांत हो गया था, जिसके कारण उन्हें पिता का साथ नहीं मिला। उनकी मां वेदा खुद एक अभिनेत्री थीं, जिसके कारण वह उन्हें समय नहीं देती थीं और जयललिता हमेशा उनके प्रेम के लिए तरसती रहीं। उनकी मां ने उन्हें तभी सिनेमा जगत में उतार दिया, जब वह स्कूल में पढ़ती थी, जिसके कारण उनका डाक्टर या वकील बनने का सपना अधूरा रह गया।

एमजीआर ही थे उनके जीवन के एकमात्र प्रेम
जयललिता सिनेमा की दुनिया के पुरुषों को पसंद नहीं करती थीं, लेकिन जब उनके जीवन में एमजी रामचंद्रन आये, तो वह उनसे जुड़ती गयीं। उनदोनों ने साथ में कई हिट फिल्में तो दी ही, उनका प्रेम भी काफी चर्चित रहा। हालांकि इस किताब में एमजीआर के करीबी  आरएम वीरप्पन के हवाले से लिखा गया है कि जयललिता मायावी थी और वे एमजीआर को जयललिता नाम की शैतान से बचाने के कुछ भी करने को तैयार थे। हालांकि जयललिता ने कभी यह स्वीकार नहीं किया कि उनका एमजीआर से प्रेम संबध था, लेकिन उनके निधन के बाद जिस प्रकार उनकी पत्नी जानकी ने जयललिता को उनके पार्थिव शरीर से दूर रखने की कोशिश की और उनका अपमान किया, वह एमजीआर और उनके संबंधों की नजदीकी को दर्शाता है।

तमिल अभिनेता शोभन बाबू से हुई थी शादी
इस बायोग्राफी में जयललिता के कुछ दोस्तों के हवाले से लिखा गया है कि जब जयललिता और एमजीआर के बीच कुछ समय के लिए दूरियां आयी, तब जयललिता तमिल एक्टर शोभन बाबू के संपर्क में आयी थीं और उनके बीच प्रेम पनपा था। इस किताब का दावा है कि उनदोनों ने शादी भी की थी। हालांकि इस किताब में शोभन बाबू और जयललिता के रिश्तों पर विस्तार से कुछ नहीं लिखा गया है।